“इमरजेंसी पर फिल्‍में बनाने से फुरसत मिल गई हो तो अब ‘गुजरात फाइल्‍स’ पर फिल्‍म बनाएं”

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
वीडियो Published On :


पत्रकार राणा अयूब की किताब ‘गुजरात फाइल्‍स’ के हिंदी संस्‍करण के लोकार्पण के मौके पर 16 सितंबर को दिल्‍ली में मंच से एनडीटीवी के पत्रकार रवीश कुमार ने अपनी बात रखी। उन्‍होंने सवाल उठाया कि आखिर हम दंगों को क्‍यों भूल जाते हैं। किताब के कवर का उन्‍होंने विशेष रूप से जि़क्र किया जिस पर एक छिपकिली बनी है। यह किताब इसी छिपकिली के रूप में है। देखें पूरा वीडियो:  


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।