इस वीडियो से जानिए कि चैनलों ने भीम सेना का प्रदर्शन गोल क्यों किया !

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
वीडियो Published On :


21 मई को जंतर-मंतर पर हुआ भीम सेना का ज़ोरदार प्रदर्शन ना हिंसक था और ना वहाँ ऐसी कोई माँग की जा रही थी जिससे देश को ख़तरा हो सकता है। सीधे-सीधे डॉ.अंबेडकर का झंडा बुलंद हो रहा था और संविधान के संकल्पों की कसौटी पर सरकार को कसा जा रहा था। विदेशी चैनल थे, लेकिन भारत के कथित नंबर 1,2,3, 4..आदि-आदि कारोबारी चैनल ग़ायब थे। वैसे ओ.बी.वैन वहाँ खड़ी थीं, लेकिन शायद इस प्रदर्शन के विज़ुअल तरंगों के ज़रिये वायुमंडल को दूषित कर सकते थे, इसलिए किसी ने लाइव दिखाने की ज़हमत नहीं की। चैनलों की सोशल-पोलिटकल ‘लोकेशन’ यही है।

बहरहाल, ख़बर ये है कि आंदोलनकारी भी इसकी परवाह करते नहीं दिखे।  दलितों-वंचितों ने अपना मीडिया गढ़ने की ठान ली है जो कारोबारी मीडिया के धंधे के लिए बुरा संकेत है। बहरहाल, चलचित्र अभियान का यह वीडियो देखिए और जानिए कि ऐसा क्या था वहाँ जो चैनलों का ख़ाना ख़राब कर देता..


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।