झारखंड: लड़की को पीटते थाना प्रभारी का वीडियो वायरल, CM के ट्वीट के बाद हुआ निलंबित

रूपेश कुमार सिंह रूपेश कुमार सिंह
प्रदेश Published On :


सोशल साइट्स पर झारखंड का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें एक व्यक्ति एक लड़की के बाल को पकड़कर पीट रहा है और गंदी-गंदी गालियां दे रहा है। यह 15 सेकेंड का वीडियो है। वीडियो में जो व्यक्ति लड़की के साथ मारपीट कर रहा है व गंदी-गंदी गालियां दे रहा है, वह झारखंड के साहेबगंज जिला के बरहेट थाना का थाना प्रभारी हरीश पाठक है। मालूम हो कि झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन वर्तमान में बरहेट विधानसभा से ही निर्वाचित विधायक हैं। सोशल साइट्स पर इस वीडियो के वायरल होने के बाद बरहेट थाना प्रभारी हरीश पाठक को निलंबित कर लाइन हाजिर कर दिया गया है। हालांकि लोग थाना प्रभारी को बर्खास्त कर गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं।

डीजीपी एमवी राव ने बड़हड़वा डीएसपी को कल शाम तक रिपोर्ट सब्मिट करने को कहा है। यह कदम मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा ट्वीट करने के बाद उठाया गया। फिल्म निर्देशक अविनाश दास के ट्वीट के जवाब में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि “यह सरासर अनुचित और शर्मनाक कृत्य है, जो बर्दाश्त के  काबिल नहीं हैं। डीजीपी एमवी राव मामले की जांच करते हुए दोषी प्रभारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें एवं सूचित करें।”

 

दरअसल फिल्म निर्देशक अविनाश दास ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को टैग करते हुए ट्वीट किया था कि “झारखंड में साहेबगंज ज़िला है। वहां बरहेठ थाना का प्रभारी एक दलित लड़की से कैसे पेश आ रहा है, हेमंत सोरेन जी आपको देखना चाहिए। लड़की प्रेम विवाह करना चाहती है और थाना प्रभारी उसकी इस इच्छा को थप्पड़ों से कुचलना चाह रहा है। शर्मनाक है ये!”

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के ट्वीट के बाद डीजीपी एमवी राव ने ट्वीट कर जवाब दिया कि थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है। और मामले की जांच बड़हड़वा के डीएसपी को सौपी गई है जो कल शाम तक रिपोर्ट सब्मिट करेंगे।

बता दें कि बरहेट थाना प्रभारी हरीश पाठक जिस लड़की को पीट रहा है, उसका नाम राखी कुमारी (पिता-विनोद दास) है। यह एक दलित लड़की है। राखी कुमारी ने इस बावत साहेबगंज पुलिस अधीक्षक (एसपी) को एक आवेदन दिया है, जिसके अनुसार 22 जुलाई को बरहेट थाना प्रभारी ने राखी को थाना बुलाया और बोला कि तुम्हारा शिकायत आया है कि तुम रामू मंडल से शादी करने वाली हो।

इसपर राखी ने कहा कि मैं रामू मंडल से प्यार करती हूँ और शादी भी रामू से ही करूंगी। इतना सुनते ही थाना प्रभारी राखी को गंदी-गंदी गालियां देने लगा और बाल पकड़कर पीटना शुरु कर दिया।

थाना प्रभारी की पिटाई से राखी गिर जाती है और नाक से खून बहना शुरु हो जाता है। फिर राखी का छोटा भाई राखी को उठाकर एक निजी अस्पताल में ले जाकर इलाज कराता है और फिर दोनों परिवार की मर्जी से 23 जुलाई को राखी और रामू की शादी भी हो जाती है। अभी राखी रामू के साथ ही रह रही है, लेकिन थाना प्रभारी की पिटाई से उसे बुखार हो गया है।

राखी ने साहेबगंज एसपी को आवेदन लिखकर थाना प्रभारी पर कार्रवाई की मांग की है। अब सवाल उठता है कि बरहेट थाना प्रभारी क्यों राखी और रामू की शादी के खिलाफ थे? और अगर वे इनदोनों के प्रेम के खिलाफ थे, तो क्या उसे राखी के साथ मारपीट करने व रंडी और माद… जैसी गालियां देने का हक मिल जाता है?

मालूम हो कि ये हरीश पाठक वही है, जिसपर 2016 में जामताड़ा के नारायणपुर थाना के थाना प्रभारी रहते हुए पुलिस कस्टडी में मिन्हाज अंसारी को पीट-पीटकर मार डालने का मुकदमा चल रहा है। 2 अक्टूबर 2016 को एक व्हाट्सअप ग्रुप में मिन्हाज अंसारी द्वारा गौमांस के साथ तस्वीर डालने के आरोप में हरीश पाठक ने 4 अक्टूबर को उसे हिरासत में लेकर काफी मार-पीट किया था, जिससे मिन्हाज की तबीयत खराब हो गयी। तब जाकर 6 अक्टूबर को उसे रांची के रिम्स अस्पताल में भर्ती किया गया था। जहाँ 9 अक्टूबर 2016 को मिन्हाज अंसारी की मृत्यु हो गयी थी। बाद में मिन्हाज अंसारी के पिता उमर मियां ने तत्कालीन नारायणपुर थाना प्रभारी हरीश पाठक पर मिन्हाज अंसारी की हत्या का मुकदमा दायर किया था।

फेसबुक और ट्वीटर पर कई लोग बरहेट थाना प्रभारी हरीश पाठक को अविलंब बर्खास्त कर गिरफ्तार करने की मांग कर रहे है। अब देखना यह होगा कि झारखंड सरकार बरहेट थाना प्रभारी पर केवल निलंबन की कार्रवाई करती है या उसकी गिरफ्तारी भी होती है।


   
रूपेश कुमार सिंह, स्वतंत्र पत्रकार हैं।

 


 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।