मोदी-यात्रा से पहले बनारस में फिर सीवर ने ली दो दलितों की बलि, NHRC में शिकायत दर्ज


आखिर हर बार मोदी की बनारस यात्रा से पहले मौतें क्‍यों होती हैं?


मीडिया विजिल मीडिया विजिल
उत्तर प्रदेश Published On :


बनारस में क्षेत्र के सांसद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यात्रा से ठीक पहले 1 मार्च को सीवर में दम घुटकर दो सफाईकर्मियों की मौत हो गई। इनमें एक मृतक चंदन बनारस का रहने वाला है और दूसरा राजेश मोतिहारी, बिहार का है।

इस मामले पर बनारस के सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. लेनिन रघुवंशी ने अखबार में छपी खबर के आधार पर राष्‍ट्रीय मानवाधिकार आयोग में शिकायत दर्ज करायी है जिसे आयोग ने संज्ञान लेते हुए दर्ज कर लिया है।

मौके पर मौजूद परिजनों और निवासियों से शहर के सामाजिक कार्यकर्ता अनूप श्रमिक ने जो बात की, उसके मुताबिक भोर मे साढ़े तीन बजे तीन सफाईकर्मी पांडेपुर के काली मंदिर स्थित सीवर लाइन को साफ़ करने नीचे उतरे थे। जब वे चैम्‍बर में घुसे तो अचानक कहीं से पानी रिसने लगा जिसके चलते तीनों फंस गए। इनमें से एक उमेश कुमार तो किसी तरह बाहर निकल आया लेकिन बाकी दोनों फंसे रह गए।

#तुम_बनारस_ना_आया_करो_क्यों_कि…..#तुम_जब_आते_हो_बली_मांगते_हो….मोदी फीर इसी सप्ताह बनारस आने वाले हैं और वो जब जब…

Posted by Anoop Shramik on Friday, March 1, 2019

दिन में जब हल्‍ला मचा तो एनडीआरएफ की टीम दोनों लापता मजदूरों को खोजने मौके पर पहुंची। काफी खोजबीन के बाद राजेश और चंदन की लाश बरामद हुई।

नरेंद्र मोदी आइये आपके बनारस में तीन और सफाईकर्मी मर गए अब पैर धो के नही पियेंगे??

Posted by Anoop Shramik on Thursday, February 28, 2019

मारे गए दोनों ही सफाईकर्मी अनुसूचित जाति से आते हैं। दोनों की मौत के संबंध में डॉ. लेनिन द्वारा दर्ज करायी गई शिकायत को एनएचआरसी ने डायरी संख्‍या 2517/IN/2019 के तहत दर्ज किया है।  

ध्‍यान रहे कि पिछली बार भी जब प्रधानमंत्री मोदी क्षेत्र के दौरे पर नवंबर में आए थे, उससे ठीक पहले चौकाघाट में सीवर सफाईकर्मियों की मौत हुई थी। उससे पहले जब मोदी बनारस आए थे तो शहर के कुत्‍तों को इंजेक्‍शन देकर मार दिया गया था जिस पर अच्‍छा खासा बवाल मचा था।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।