नया वीडियो आया सामने, किसानों को पीछे से रौंद गयी गाड़ी, विपक्ष हुआ हमलावर

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
उत्तर प्रदेश Published On :


लखीमपुर- खीरी में रविवार को हुई में हिंसा ने केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे पर किसानों को अपनी एसयूवी के नीचे कुचलने का आरोप है। अब इस घटना का नया वीडियो सामने आया है। जिसमे किसानों को पीछे से रौंदते हुए जीप नज़र आ रही है। यूपी कांग्रेस, पूर्व आईएएस अधिकारी, प्रियंक गांधी और AAP नेता संजय सिंह समेत तमाम नेताओं ने इस वीडियो शेयर को करते हुए दावा किया है कि गाड़ी से किसानों को रौंदने का यह वीडियो लखीमपुर खीरी का है।

कांग्रेस ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें दिख रहा है कि बड़ी संख्या में किसान हाथों में झंडा लिये चल रहे हैं। इसी बीच हूटर बजाते पीछे से आई एसयूवी गाड़ी लोगों की भीड़ के बीच से किसानों को रौंदते हुए तेज़ी से निकल रही है।

AAP नेता कहा -क्या इसके बाद भी कोई प्रमाण चाहिये?

AAP नेता संजय सिंह ने वीडियो को शेयर करते हुए ट्वीट किया “क्या इसके बाद भी कोई प्रमाण चाहिये? देखिये सत्ता के अहंकार में चूर गुंडे ने किसानो को अपनी गाड़ी के नीचे कैसे रौंदकर मार दिया। कुछ चैनल ज्ञान दे रहे थे कि मंत्री का बेटा जान बचाने के लिए भागा।”

संजय सिंह ने एक दूसरे ट्वीट में राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार से पूछा, “आदित्यनाथ जी आपके राज में किसानों की निर्मम हत्त्या करने वाले गिरफ्तार कब होंगे? पिछले 30 घंटे से आपने मुझे मेरे साथियों के साथ पुलिस हिरासत में रखा है. लेकिन हत्यारे खुलेआम घूम रहे हैं. क्या यही आपके न्याय का सिद्धांत है?”

“…मंत्री का बेटा अपने बाप के आदेश का पालन कर रहा था”

यूपी कांग्रेस के हैंडल से भी इस विडियो को ट्वीट किया गया है और लिखा गया कि “न तो कोई किसान ‘उपद्रव’ मचा रहा था, न ही कोई किसान ‘गाड़ी’ पर पथराव कर रहा था। मंत्री का बेटा अपने बाप के आदेश का पालन कर रहा था। किसानों को बेरहमी से पीछे से कुचल रहा था,अब सब कुछ सामने है। शर्म करो नरेंद्र मोदी..”

मोदी सरकार की चुप्पी उन्हें गलत साबित करती है…

इस वीडियो को कांग्रेस ने ऑफिशियल अकाउंट से शेयर कर लिखा, “मोदी सरकार की चुप्पी उन्हें गलत साबित करती है।”

अन्नदाता को कुचल देने वाला ये व्यक्ति अब तक गिरफ़्तार नहीं हुआ। क्यों?

प्रियंका गांधी ने भी विडियो ट्वीट करते हुए सरकार से सवाल किया, उन्होंने लिखा- “@narendramodi जी आपकी सरकार ने बगैर किसी ऑर्डर और FIR के मुझे पिछले 28 घंटे से हिरासत में रखा है। अन्नदाता को कुचल देने वाला ये व्यक्ति अब तक गिरफ़्तार नहीं हुआ। क्यों?”

…..शतुरमुर्ग बनी यूपी सरकार/पुलिस को नहीं दिखेगा !

पूर्व आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह ने भी वीडियो शेयर करते हुए लिखा…और वो थार से कुचलता चला गया। और कोई साक्ष्य चाहिए? लेकिन शतुरमुर्ग बनी यूपी सरकार/पुलिस को नहीं दिखेगा।

उन्होंने इस ट्वीट के साथ पीएम मोदी का पुराना बयान साझा करते हुए लिखा, वाह PM जी, संवेदना हो तो ऐसी! 48 घंटे होने को है, तिकुनिया कांड को, सांत्वना का एक शब्द भी नहीं। किसानों से इतनी नफ़रत आखिर क्यों?

बता दें कि रविवार को हुए बवाल के बाद किसानों ने पीछे से जीप चढ़ाने का ही आरोप लगाया था। जबकि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ने कहा था कि पहले जीप पर पथराव और लाठी डंडों से हमला किया गया। वहीं, लखीमपुर खीरी में 6 अक्टूबर तक RAF और SSB की दो-दो कंपनियों को तैनात किया गया है।

 

मीडिया विजिल इस वीडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है!”

 


Related