नेहरू के 1947 के भाषण के वजह से बढ़ी महँगाई- चि.(अ)शिक्षा मंत्री, मध्यप्रदेश


मंत्री जी का ये बयान सोशल मीडिया पर काफ़ी वायरल  हो रहा है। लोगों का कहना है कि देश की समस्याओं के लिए मोदी नहीं नेहरू के ज़िम्मेदार बताने वाले चुटकुलों को सारंग ने नयी ऊंचाई दी है। विपक्षी दल कांग्रेस के नेता सलाह दे रहे हैं कि अब सीधे नेहरू जी से इस्तीफ़े की मांग करें सारंग।


मीडिया विजिल मीडिया विजिल
प्रदेश Published On :


मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने अजीबो गरीब बयान दिया है। उन्होंने महंगाई का जिम्मेदार भूतपूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को ठहराया है। सारंग ने कहा कि अगर देश के पहले प्रधानमंत्री और उनकी पार्टी ने अर्थव्यवस्था को अच्छी स्थिति में छोड़ा होता तो मुद्रास्फीति नियंत्रण में होती।

एक प्रेसवार्ता में विश्वास सारंग ने कहा कि आजादी के बाद से बढ़ती महंगाई का सारा श्रेय नेहरू परिवार को जाता है। आगे उन्होंने कहा कि महंगाई एक-दो दिनों में नहीं बढ़ती है। 15 अगस्त, 1947 को लाल किले की प्राचीर से जवाहरलाल नेहरू ने जो भाषण दिया, उन्हीं गलतियों के कारण देश की अर्थव्यवस्था की ये हालत हुई है।


‘पीएम मोदी ने संभाला’

विश्वास सारंग जहां महंगाई के लिए कांग्रेस को कोसते नजर आए वहीं उन्होंने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने पिछले सात सालों में अर्थव्यवस्था को मजबूत किया है। उन्होंने दावा किया कि, बीजेपी सरकार ने महंगाई कम की है और लोगों की आय को बढ़ाया है।

सारंग ने आरोप लगाते हुए कहा कि मौजूदा परिस्थितियों के लिए नेहरू की गलत नीतियां ही इसकी जिम्मेदार हैं। औद्योगीकरण करना ठीक था, लेकिन इसे कृषि आधारित होना चाहिए था।

उन्होंने कहा कि उस समय देश की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर आधारित थी लेकिन पंडित नेहरू ने इस पर ध्यान नहीं दिया। इसकी उपेक्षा की।

ज़ाहिर है, मंत्री जी का ये बयान सोशल मीडिया पर काफ़ी वायरल  हो रहा है। लोगों का कहना है कि देश की समस्याओं के लिए मोदी नहीं नेहरू के ज़िम्मेदार बताने वाले चुटकुलों को सारंग ने नयी ऊंचाई दी है। विपक्षी दल कांग्रेस के नेता सलाह दे रहे हैं कि अब सीधे नेहरू जी से इस्तीफ़े की मांग करें सारंग।

ेोीोलु


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।