बिहार: माले प्रत्याशी शशि यादव ने दीघा से भरा पर्चा; कहा-‘NDA को सबक सिखाएगी जनता!’

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
प्रदेश Published On :


बिहार के दीघा विधानसभा सीट पर महागठबंधन समर्थित भाकपा-माले प्रत्याशी शशि यादव ने सैकड़ों समर्थकों के साथ पटना सदर अनुमंडल पहुंचकर अपना पर्चा दाखिल किया। शशि यादव ऐपवा की राज्य सचिव, आशा कार्यकर्ता संघ (गोपगुट) की प्रदेश अध्यक्ष व स्कीम वर्करों के फेडरेशन की राष्ट्रीय संयोजिका हैं। छात्र संगठन आइसा के जरिए राजनीतिक जीवन की शुरूआत करने वाली शशि यादव इस समय बिहार में वो आशा कार्यकर्ता और स्कीम वर्करों के आंदोलन का प्रमुख चेहरा हैं।

नामांकन के मौके पर शशि यादव ने कहा कि देश को बेचने पर आमादा, साम्प्रदायिक-फासीवादी शक्तियों को सबक सिखाने का मन बिहार की जनता ने बना लिया है। बिहार की संघर्षशील जनता की दावेदारी इस चुनाव में हर हाल में मुखर होकर उभरेगी। उन्होंने आगे कहा कि बिहार को UP नहीं बनने दिया जाएगा। इस बार पिछले 30 वर्षों से भाजपा की जो तालाबंदी इस विधानसभा सीट में है वो खत्म होगी। कब्जा हटेगा।

दीघा विधानसभा क्षेत्र की समस्याओं को लेकर शशि यादव ने कहा कि पिछले 15 वर्षों में गरीब गुरबों की झोपड़ियों को उझाड़ने का काम हुआ है। गरीबों का नया आशियाना नहीं बना। गरीब नाले पर रहने को मजबूर हैं। गरीब भुखमरी के शिकार है। हम इन गरीबों के लिए आवाज़ बुलंद करेंगे। इस विधानसभा में स्थित पाटलिपुत्र औद्योगिक क्षेत्र को विकसित करने का काम होगा जिससे हज़ारो बेरोजगार नौजवानों को काम मिलेगा।

उन्होंने कहा कि स्कीम वर्कर्स की लड़ाई को आगे बढ़ाने का काम होगा। जिन लोगों ने माइक्रो फाइनान्स कंपनियों से कर्ज लिया है उनकी माफी के लिए आवाज़ उठेगी। गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को जनसुलभ बनाने का संघर्ष होगा।

नामांकन कार्यक्रम में भाकपा-माले केंद्रीय कमिटी सदस्य अभ्युदय, वरिष्ठ माले नेता राजाराम , राज्य कमिटी सदस्य रणविजय कुमार, रामबली प्रसाद, अनिता सिन्हा, समता राय, ऐक्टू राष्ट्रीय सचिव कमल उसरी, राष्ट्रीय जनता दल पटना महानगर उपाध्यक्ष पवन कुमार, शैलेश कुमार, राजद महानगर सचिव रंजीत कुमार गुप्ता , भाकपा के वरीष्ठ नेता गजनफर नवाब, माकपा पटना जिला सचिव मनोज चंद्रवंशी, सामाजिक कार्यकर्ता ग़ालिब, एनएपीएम की कामायनी, आशीष रंजन शामिल रहे।

दीघा चुनाव तैयारी समिति के संयोजक जीतेन्द्र कुमार, इनौस राज्य सचिव सुधीर, माले नेता मुर्तज़ा अली, रामकल्याण सिंह, राखी मेहता, राजेश कुशवाहा, विजय गोप , अशोक कुमार, पन्नालाल सिंह, पूर्व वार्ड पार्षद बिनोद कुमार, धर्मेंद्र बिंद, सोनू, सुभाष बोस, अनुराधा सिंह, सत्येंद्र शर्मा, विनय कुमार , विजय कुमार, इंसाफ मंच की आसमां खां, मुश्ताक़ राहत, अफ्शा जबीं, अनिल अंशुमन , देवेंद्र कुमार, दिलीप सिंह, अधिवक्ता नंदकुमार सागर ,पंकज पाल, रामजी यादव व कार्तिक समेत भाकपा-माले, राजद , कांग्रेस, भाकपा व माकपा के सैंकड़ों कार्यकर्ता भी शामिल रहे।

‘एनडीए हराओ- बिहार बचाओ, जनता की दावेदारी आगे बढ़ाओ’, ‘हाथरस से आई आवाज़ – खत्म करो एनडीए राज’, महागठबंधन जिंदाबाद, दीघा विधायक कैसा हो- शशि यादव जैसा हो आदि नारों के साथ, हाथ में लाल, हरे, सफेद झंडे लिए सैकड़ों समर्थक ने नामंकन कार्यक्रम में शामिल हुए। शशि यादव ने दो सेटों में पर्चा भरा।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।