कांग्रेस यूपी के हर गांव में करेगी ओबीसी चौपाल, बनायेगी पिछड़ा अध्यक्ष

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
प्रदेश Published On :


उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पिछड़ा वर्ग विभाग ने ऐलान किया है कि वो राज्य के गांव गांव ओबीसी चैपाल लगाएगी और हर गांव में ओबीसी अध्यक्ष बनायेगी।आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पर हुई बैठक में कांग्रेस महासचिव एवं यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी के जन्मदिन पर गांव-गांव संगठन मजबूत करने का संकल्प भी लिया गया। पूरे सूबे से इकठ्ठा हुए पिछड़ा वर्ग के पदाधिकारियों ने बैठक में हिस्सा लिया।

बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि हमारी नेता ने कहा है कि हमारे जन्मदिन पर उत्सव ना मनाया जाए बल्कि जनता के बीच गाँव गाँव चैपाल लगाई जाए। जनता को उनके अधिकारियों के लिए जागरूक बनाइये जिससे उनका जीवन बेहतर बन सके। उन्होंने कहा कि आज आरक्षण को खत्म किया जा रहा है उसको बचाने के लिए आगे आना होगा। हम समाज में वैमनस्यता नहीं फैलाना चाहते अपितु संविधान प्रदत्त अपने अधिकारों में कोई लूट-खसोट भी नहीं चाहते। हम अपने संवैधानिक अधिकारों को लेने के लिए आये हैं। भारतीय जनता पार्टी आरक्षण को खत्म करके संविधान को कुचलना चाह रही है। निजीकरण के माध्यम से संविदा पर सचिवालय चलाये जा रहे हैं। भारत सरकार के सभी उपक्रम बेचकर उन संस्थाओं के बेंचा जा रहा है जिनका वंचित वर्गों के कल्याण से सीधा सम्बन्ध है।

बैठक को पूर्व मंत्री व वरिष्ठ नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने सम्बोधित करते हुए कहा कि योगी-मोदी की सरकारों में पिछड़ों के साथ ऐतिहासिक अन्याय हो रहा है। उनके अधिकारों पर खुलेआम डाके डाले जा रहे हैं। दलित, पिछड़ों की बहू बेटियां आज सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं।

प्रदेश कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विभाग के कार्यकारी अध्यक्ष मनोज यादव ने कहा कि कांग्रेस पार्टी की स्थापना ही स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व के आधारभूत सिद्धांतों पर हुई है। प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू से लेकर डॉ मनमोहन सिंह की सरकारों द्वारा इस देश की बहुसंख्यक पिछड़े वर्गों के खुशहाली, संपन्नता, न्याय, शैक्षणिक विकास, सामाजिक राजनीतिक एवं आर्थिक उत्थान के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई गई।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी की सरकारों ने जमींदारी उन्मूलन द्वारा भूमिहीन पिछड़े वर्गों को खेती बाड़ी की जमीनों पर मालिकाना हक दिलवाया। 73 वें और 74वें संविधान संशोधन के द्वारा ग्राम पंचायतों व नगर निकायों का गठन तथा पिछड़े वर्ग, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजातियों के लिए त्रिस्तरीय आरक्षण देकर पिछड़े वर्गों की राजनीतिक भागीदारी ग्राम पंचायत से लेकर सभी स्तरों पर सुनिश्चित करवाया।

मनोज यादव ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि पार्टी ने पिछड़ों को अपने दल में नेतृत्व करने का पर्याप्त अवसर दिया। वर्तमान में ही राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सफलतापूर्वक पिछले वर्ग और प्रदेश की सम्पूर्ण जनता के उत्थान में कार्यरत हैं। कांग्रेस पार्टी सदैव सामाजिक न्याय को स्थापित करने के लिए बचनबद्ध है और उसकी कार्यशैली, नीतियों में परिलक्षित होता है।

आज के कार्यक्रम में प्रमुख रूप से पिछड़ा वर्ग विभाग के उपाध्यक्ष कैलाश चैहान, ओ0 पी0 ठाकुर, मनीराम कुशवाहा, अनुज गंगवार, इरफान कुरैशी सहित सैंकड़ों की संख्या में पिछड़ा वर्ग विभाग के पदाधिकारी एवं प्रतिनिधि मौजूद रहे।


विज्ञप्ति पर आधारित


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।