मिशन यूपी: पूर्वी यूपी में फैल रहा किसान आंदोलन, भारत बंद के लिए किसानों ने कसी कमर

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
आंदोलन Published On :


संयुक्त किसान मोर्चा प्रेस विज्ञप्ति

संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा घोषित मिशन यूपी रंगं लाता दिख रहा है।  मुजफ्फरनगर में हुई किसान-मजदूर महापंचायत से मिशन उत्तर प्रदेश के शुभारंभ हो चुका है।  लखनऊ में एसकेएम उत्तर प्रदेश की बैठक में इसकी विस्तृत योजना और कार्यक्रम बन चुकी है। बैठक में पूरे यूपी से 85 किसान संगठन एक साथ आए। अभियान अब गति के साथ बढ़ रहा है। हर स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।  भारत बंद की योजना को लेकर उत्तर प्रदेश के हर जिले में 17 सितंबर को बैठकें आयोजित की जाएंगी। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसान आंदोलन की सफलता के बाद, आंदोलन तेजी से राज्य के पूर्वी हिस्से में भी फैल रहा है। किसान आगामी चुनाव में भाजपा को सबक सिखाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

15 सितंबर को जयपुर में किसान संसद का आयोजन किया जाएगा, जिसमें राजस्थान भर के किसान संगठन भारत बंद की तैयारी और राज्य में किसानों के मुद्दों को उठाने के लिए एक साथ आयेंगे।

आज हिमाचल प्रदेश में सेब किसानों ने सेब के लाभकारी मूल्य सुनिश्चित करने की अपनी मांगों के प्रति सरकार की उदासीनता, और कॉर्पोरेट द्वारा खुली लूट के खिलाफ अपना आंदोलन शुरू किया। गौरतलब हो की इस वर्ष अदानी एग्री फ्रेश ने ए-ग्रेड प्रीमियम सेब की कीमत 72 रुपये प्रति किलो तय की है, जो पिछले साल 88 रुपये प्रति किलो थी। ज्यादातर किसान घाटे का सामना कर रहे हैं। सेब किसानों के साथ टमाटर, आलू, लहसुन, फूल-गोभी और अन्य फसलें उगाने वाले किसान भी आंदोलन में शामिल हैं, जो सभी फसलों के लिए एमएसपी की कानूनी गारंटी की मांग कर रहे हैं।

पंजाब के सोहाना में महिला किसानों की भूख हड़ताल 97वें दिन पर पहुंच गई है। महिला, जो भारत में बहुसंख्यक किसान हैं, और किसान आंदोलन का नेतृत्व कर रही हैं, ने तीन कृषि कानूनों के खिलाफ लड़ाई अपने हाथों में ले ली है।

जारीकर्ता –
बलबीर सिंह राजेवाल, डॉ दर्शन पाल, गुरनाम सिंह चढूनी, हन्नान मोल्ला, जगजीत सिंह डल्लेवाल, जोगिंदर सिंह उगराहां, शिवकुमार शर्मा (कक्का जी), युद्धवीर सिंह, योगेंद्र यादव

संयुक्त किसान मोर्चा
ईमेल: samyuktkisanmorcha@gmail.com

291वां दिन, 13 सितंबर 2021


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।