योगीजी, लखीमपुर के दोषियों के घर पर बुल्डोजर कब चलेगा, पोस्टर कब लगेंगें- अजय कुमार लल्लू

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
आंदोलन Published On :



कांग्रेस नेताओं ने राज्यपाल से मिलकर राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन


धरना प्रदर्शन और हंगामें के बाद कांग्रेस नेताओं को मिली राज्यपाल से मिलने की अनुमति

 

लखीमपुर नरसंहार पर कांग्रेस का आंदोलन लगातार जारी है। आज कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के नेतृत्व में कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने महामहिम राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मिलकर उन्हें राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में राष्ट्रपति से लखीमपुर कांड के दोषियों की तत्काल गिरफ्तारी और अजय मिश्र टेनी को केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के पद से बरखास्त करने की मांग की गयी है। इसके अलावा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष श्री लल्लू ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से पूछा है कि लखीमपुर के दोषियों के घर बुलडोजर कब चलाया जाएगा। दोषियों के पोस्टर कब सड़कों पर लगाये जायेंगे?

राज्यपाल को सौंपे गये कांग्रेस के ज्ञापन में कहा गया है कि लखीमपुर में शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे किसानों को गाड़ियों से कुचलने की अमानवीय घटना से पूरा देश स्तब्ध है, लेकिन राज्य सरकार ने इस संबंध में संवेदना व्यक्त करने जा रहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी को अवैध रूप से गिरफ्तार करके उनके साथ दुर्व्यवहार किया जो लोकतंत्र की हत्या है। उन्हें चार दिन तक सीतापुर पीएसी कंपाउंट में बंधक बनाकर रखा गया। यही नहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को एयरपोर्ट से लौटा दिया गया और राष्ट्रीय नेता राहुल गाँधी को भी लंबे समय तक रोका गया। ज्ञापन में कहा गया है कि माननीय राष्ट्रपति इन घटनाओं का संज्ञान लेकर कार्रवाई करें।

इससे पहले ज्ञापन देने पहुँचे कांग्रेस नेताओं को राजभवन में प्रवेश की अनुमति नहीं मिली। इस पर नाराज़ पार्टी नेताओं ने राजभवन के बाहर ही धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। भारी तादाद में जुटे कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू ने कहा कि तानाशाह योगी सरकार अपने नाकामियों को छिपाने जनता की आवाज बुलंद करने वाले कांग्रेस नेताओं का उत्पीड़न कर रही है। योगी जी बार बार अपराधियों के घर बुलडोजर चलवाने की धमकी देते हैं, वे बतायें कि लखीमपुर कांड के दोषियों के घर बुलडोजर कब चलेंगे और उनके चेहरे वाले पोस्टर सार्वजनिक स्थलों पर कब लगाये जायेंगे?

कांग्रेस विधानमंडल दल नेता आराधना मिश्रा “मोना“ ने कहा कि पूरे प्रदेश में भय का वातावरण बनाकर बीजेपी गरीबों मजलूमों की आवाज दबा रही है। भारतीय संविधान के साथ खिलवाड़ करने के साथ ही तानाशाही आपराधिक रवैया अपना कर लोकतंत्र की हत्या करने में योगी सरकार ज़रा भी नहीं हिचकती।

विधानपरिषद में कांग्रेस नेता दीपक सिंह ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार किसानों की आय दोगुनी करने की बात करती थी लेकिन उनकी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य देने से मुकर गई। आज देश के किसान आंदोलित हैं। दिल्ली को घेरे बैठे हैं। आंदोलन कुचलने में नाकाम रही सरकार किसानों को कुचलने में जुट गयी है। केंद्रीय गृहराज्यमंत्री किसानों को दो मिनट में ठीक करने का ऐलान करते हैं तो हरियाणा के मुख्यमंत्री भाजपा कार्यकर्ताओं को हाथ में लट्ठ लेकर किसानों पर टूट पड़ने की सीख दे रहे हैं।

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि जब तक केंद्रीय गृहराज्यमंत्री अजय मिश्र को बरखास्त नहीं किया जाता तब तक यह आंदोलन जारी रहेगा। कांग्रेस किसानों की लड़ाई में पूरी तरह साथ है। कांग्रेस नेताओं के आक्रोश को देखते हुए बाद में राजभवन से मुलाकात की अनुमति दी गयी। प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, विधानमंडल दल नेता अराधना मिश्र और विधानपरिषद सदस्य दीपक सिंह, कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव धीरज गुर्जर, राष्ट्रीय सचिव अनिरुद्ध सिंह, पूर्व विधायक पंकज मलिक, पूर्व विधायक अमरेश पांडेय शामिल थे। इसके अलावा राजभवन पर हुए प्रदर्शन में कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष शहनवाज़ आलम, एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष अनस रहमान, यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ओमवीर यादव, आरटीआई विभाग के चेयरमैन पुष्पेंद्र श्रीवास्तव, सोशल आउटरीच विभाग के संयोजक विक्रम पांडेय, कांग्रेस प्रदेश महासिचव विदित चौधरी, कांग्रेस प्रवक्ता अंशू अवस्थी और सचिन रावत समेत बड़ी तादाद में कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे।

(विकास श्रीवास्तव)

प्रवक्ता
उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी
मो. 9415717516


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।