2018 के वीडियो पर योगेंद्र यादव- बीजेपी की ट्रोल आर्मी चालाकी से बाज़ आये!


योगेंद्र यादव के मुताबिक इस प्रोपेगंडा के पीछे चालाकी यह है मानो सरकारी कानून इन मांगों को पूरा करते हैं। असली सवाल यह है कि इन तीन कानूनों से कृषि बाज़ार में सुधार होगा या और भी बिगाड़ होगा? बिचौलिए की ताकत घटेगी या और भी बड़े बिचौलिए घुसेंगे? कृषि व्यापार में स्टॉकिस्ट और एक्सपोर्टर कि ताकत बढ़ेगी या नहीं?


मीडिया विजिल मीडिया विजिल
राजनीति Published On :


जय किसान आंदोलन के नेता योगेंद्र यादव ने आरोप लगाया है कि बीजेपी की ट्रोल आर्मी उनके एक वीडियो क्लिप को वायरल करके कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ आंदोलन को बेवजह बताने की कोशिश कर रही है जबकि उनका विरोध तथ्यों पर आधारित है और वे अपनी बात पर आज भी क़ायम हैं।

योगेंद्र यादव ने कहा कि बीजेपी के ट्रोल 2018 की इस क्लिप को लेकर ऐसा पेश कर रहे हैं मानो हम अपनी बात से पलट गए हों। इसमें लेश मात्र भी सच नहीं है। इस वीडियो में कही हर बात आज भी सच है:

● किसान और उपभोक्ता के बीच आढती, व्यापारी, थोक व्यापारी, स्टॉकिस्ट, आदि की लेयर है जिससे किसान और उपभोक्ता दोनों का नुकसान है

● सरकार को कृषि बाज़ार को बेहतर रेगुलेट करना चाहिए

● कृषि व्यापार आयात निर्यात की नीतियां किसान के हित में बनानी चाहिए।

योगेंद्र यादव के मुताबिक इस प्रोपेगंडा के पीछे चालाकी यह है मानो सरकारी कानून इन मांगों को पूरा करते हैं।

असलियत यह है:

◆ इन तीन कानूनों से कृषि बाज़ार में सुधार नहीं बिगाड़ होगा।

◆ बिचौलिए की ताकत घटेगी नहीं बल्कि और भी बड़े बिचौलिए घुसेंगे।

◆ कृषि व्यापार में स्टॉकिस्ट और एक्सपोर्टर कि ताकत बढ़ेगी।

उन्होंने इसे झूठ बोलने की बीजेपी ट्रोल आर्मी की एक और नाकाम कोशिश क़रार दिया है।

आप वह क्लिप नीचे देख सकते हैं।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।