असम में प्रियंका ने 5 गारंटी का किया ऐलान- ऐसा कानून बनायेंगे जिससे CAA लागू नहीं होगा!

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
राजनीति Published On :


कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के असम दौरे का आज दूसरा दिन है। वो यहां विधानसभा चुनाव के प्रचार में जुटी हैं। उन्होंने आज तेजपुर में एक बड़ी चुनावी रैली को संबोधित किया। रैली को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि असम आपकी मां है और आप अपनी पहचान व अस्तित्व बचाने की लड़ाई लड़ रहे हैं। भाजपा सरकार ने आपसे किए हुए वादे पूरे नहीं किए और आपकी पहचान पर भी हमला किया।

प्रियंका गांधी ने कहा कि हम वादे नहीं आपको गारंटी दे रहे हैं। ये 5 गारंटी आपके भविष्य को बेहतर बनाने के लिए हैं।

1- हम ऐसा कानून बनायेंगे जिससे CAA यहां लागू नहीं होगा।

2- असम की गृहणियों के लिए प्रति माह 2000 रू गृहणी सम्मान राशि दी जाएगी।

3- बिजली के 200 यूनिट मुफ्त जिससे हर महीने 1400 रू की बचत होगी।

4- हम चाय के बागान के श्रमिकों को प्रति दिन 365 रू का पारिश्रमिक देंगे।

5- हम युवाओं को 5 लाख रोजगार देंगे।

प्रियंका गांधी ने पीएम मोदी के ‘असम की चाय खतरे में है’ वाले बयान पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि किसी के ट्वीट से असम की चाय खतरे में नहीं होती। असम के अस्तित्व पर जो वार बीजेपी और आरएसएस ने किया है, वो उसके अस्तित्व पर खतरा है। प्रियंका गांधी ने कहा कि यहां ना तो डबल इंजन की सरकार चाहिए और रिमोट कंट्रोल वाला सीएम चाहिए। असम के लोगों को एक नेता, एक सीएम और एक पार्टी चाहिए जो उनके अस्तित्व को बचाकर उनके लिए काम करे।

चाय बागान के मजदूरों से मिलीं प्रियंका

तेजपुर की रैली से पहले प्रियंका गांधी ने असम के साधारु में चाय बागान की महिला मजदूरों से मुलाकात की और माथे पर टोकरी लगाकल उनके साथ चाय की पत्तियां तोड़ी। दरअसल असम और देश की राजनीति में चाय बागान के मजदूरों के संकट मुद्दा महत्वपूर्ण रहता है।

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा कि “चाय बागान के श्रमिकों का जीवन सच्चाई एवं सादगी से भरा हुआ है एवं उनका श्रम देश के लिए बहुमूल्य है। आज उनके संग बैठकर उनके कामकाज, घर परिवार का हालचाल जाना और उनके जीवन की कठिनाइयों को महसूस किया। उनसे मिला प्रेम और ये आत्मीयता नहीं भूलूँगी।”

इसके पहले एक अन्य ट्वीट में प्रियंका गांधी ने कहा कि ‘असम की बहुरंगी संस्कृति ही असम की शक्ति है। असम यात्रा के दौरान लोगों से मिलकर महसूस किया कि लोग इस बहुरंगी संस्कृति को बचाने के लिए वे पूरी प्रतिबद्धता से तैयार हैं। अपनी संस्कृति और विरासत बचाने के लिए असम के लोगों की लड़ाई में कांग्रेस पार्टी उनके साथ है।’

बता दें कि असम में विधानसभा के लिए तारीखों का एलान कर दिया गया है। विधानसभा की 126 सीटों पर तीन चरणों में वोट डाले जाएंगे। पहले चरण के लिए 27 मार्च को वोटिंग होगी। 2 मई को वोटों की गिनती होगी।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।