Exclusive: आंबेडकरवादी आन्दोलन के 15 वैश्विक विचारकों और प्रचारकों के वीडियो इंटरव्यू

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
दस्तावेज़ Published On :


दलित विमर्श की दुनिया में विद्याभूषण रावत एक जाना-माना नाम हैं। वे बरसों से मुसहर समुदाय के बीच काम करते रहे हैं और इस विषय पर उनकी प्रामाणिक जानकारी मानी जाती है। इसके अलावा आंबेडकरवादी आंदोलन के साथ वे गहरे जुड़े रहे हैं और निरंतर लेखन और कार्यक्रमों के माध्‍यम से हस्‍तक्षेप करते रहते हैं। इन्‍होंने बीते कोई दो दशक के दौरान अलग-अलग समय में आंबेडकरवादी आंदोलन के पुरोधाओं के अहम इंटरव्‍यू लिए हैं। एक दिन पहले उन्‍होंने एक मेल भेजकर ये सारे इंटरव्‍यू सार्वजनिक कर दिए हैं। ये वीडियो इंटरव्‍यू न केवल आंबेडकरवादी राजनीति के बुज़ुर्ग प्रणेताओं के प्रति एक सम्‍मान का सूचक हैं बल्कि मौजूदा और भविष्‍य की पीढ़ी के लिए दलित चिंतन पर गंभीर मार्गदर्शन भी हैं।
विद्याभूषण रावत की सहमति से मीडियाविजिल ये 15 वीडियो साक्षात्‍कार एक साथ प्रकाशित कर रहा है। साथ में रावतजी का एक संदेश भी संलग्‍न है।
(संपादक)

प्रिय मित्रो,

देश दुनिया में अम्बेडकरवादी मिशन को बहुत ही निष्ठावान लोगों ने अपने सिद्धांत और निष्ठा से सींचा है. मेरा भी ये प्रयास रहा के जहा कही संभव है इनलोगों के जीवन, संघर्ष और विचारो का लाभ ले सकूं और उसको जनता के सामने रख सकूं. हमारी नयी पीढ़ी को पता होना चाहिए के अम्बेडकरवाद को आगे बढाने के लिए किन लोगो ने कुर्बानियां दीं और उनकी क्या विचारधारा है, आज के प्रश्नों पे वे क्या सोचते है. पिछले बीस वर्षो से मैंने बहुत से लोगों से मुलाकात की और बहुत के विषय में लिखा है लेकिन इसको आगे बढ़ाना साथियो की जिम्मेवारी है. ये कार्य बिलकुल मिशन के तहत किया गया, बिना किसी पार्टीगत या संगठनात्मक झंडे के इसलिए इसमें विभिन्न ध्रुवों की बातें हैं जो हमें ताकत ही दिलाती हैं और आगे आने वाले समय में हमारे मार्गदर्शन के लिए बेहतरीन होंगी.
लोगों ने अपने संस्मरणों को बताने में कोई समय नहीं लगाया, कुछ थोडा कम बताना चाहते थे, कुछ राजनैतिक बातें नहीं करना चाहते थे और कुछ की उम्र का तकाजा था लेकिन ख़ुशी की बात ये है सबने बोला और बहुत से नयी बातें हमारे सामने रखीं. ये साक्षात्कार किसी योजनाबद्ध तरीके से नहीं किये गए और लगभग 15-20 वर्षों का प्रतिफल हैं. जैसे ही मुझे पता चलता कि यहाँ कोई अम्बेडकरवादी है, मैं उनके पास चला जाता हालाँकि अधिकांश लोग मुझे व्यक्तिगत तौर पर जानते भी थे. श्री भगवान दास जी, श्री एन जी उके साहेब, श्री वी टी राजशेखर से मैं बहुत कुछ सीखा और मैं लगातार उनके पास जाया करता था.
ये सारे लिंक आपके लिए प्रस्तुत हैं. कृपया समय निकालकर ज़रूर देखिये और अन्य साथियों को भी देखने के लिए प्रेरित कीजिये. अगर कोई प्रश्न हो तो मुझसे संपर्क कर सकते हैं. इन सभी लिंक्स को सुनने के लिए पर्याप्त धैर्य चाहिए और मुझे उम्मीद है के आप धीरे-धीरे करके इन्हें देखेंगे क्योंकि ये अम्बेडकरी आन्दोलन के इतिहास का महत्वपूर्ण दस्तावेज हैं. वैसे आप हमारे youtube चैनल लोकायत पर जा कर सबस्क्राइब भी कर सकते हैं ताकि जैसे ही कोई नया विडियो उसमें आये तो आपको मिल जाए. अपनी प्रतिक्रिया से ज़रूर अवगत करवाएं और अगर अच्छा लगे तो अन्य साथियों को भी प्रेरित कीजियेगा .
शुभकामनाओं सहित,
विद्या भूषण रावत

आंबेडकरवादी आन्दोलन को देश दुनिया में आगे ले जाने वाले लोगों के साक्षात्कार

 

१. प्रख्यात अम्बेडकरवादी आदरणीय भगवान दास जी से भेंटवार्ता

2.  भीम पत्रिका के संस्थापक संपादक श्री लाहोरी राम बाली जी से साक्षात्कार

3. दलित वायस पत्रिका के संपादक श्री वी टी राजशेखर

४. दलित पैंथर्स के संस्थापक श्री राजा ढाले

५. दलित पैंथर्स के संस्थापक श्री जे वी पवार

६.  गुजरात दलित पैंथर्स के संपादक श्री वालजी भाई पटेल

७. दीक्षाभूमि में बाबा साहेब की दीक्षा में सम्मिलित श्री सदानंद फुलज़ले

८.  भदंत नागार्जुन सुरइ ससइ

९. श्री विजय सुरवाडे जिन्होंने बाबा साहेब के जीवन से सम्बंधित पत्रों, फोटोग्राफ्स आदि का ओरिजिनल संकलन किया है.

१०. श्री गौतम चक्रवर्ती जो लन्दन में आंबेडकर मिशन के संथापकों में से एक हैं

११. श्री धनपत राम रत्तू जो बेडफ़ोर्ड में अम्बेडकर मिशन से जुड़े हैं और उसके संस्थापकों में से एक हैं

१२. श्री इलियास मट्टू पंजाब के एक वाल्मीकि परिवार से बड़े हुए अम्बेडकरवादी थे जो इंग्लैंड में १४०० वर्ष पुराने वोल्वर-हैम्पटन शहर के मेयर बने. अभी पिछले महीने ही उनका निधन हुआ

13. श्री हुकुम चद मेहमी, आंबेडकर मिशन, बेडफ़ोर्ड, इंग्लैंड

१४. श्री अरुण कुमार, फेडरेशन ऑफ़ अम्बेडकराइट एंड बुद्धिस्ट आर्गेनाईजेशन, यूके

१५. श्री एन जी उके, जिन्हें बाबा साहेब ने विशेष स्कालरशिप पर विदेश भेजा.


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।