चुनाव चर्चा: रविशंकर प्रसाद को हुआ बिहार में NDA से नाराज़गी का अहसास!


सियासी नेताओं के दावे-प्रतिदावे जो भी हो करीब दो तिहाई बिहारी वोटरो ने अपना वोट दे दिया है. उनके और बाकी बिहारियों के भी जनादेश के खुलकर सामने आने में 10 नवम्बर तक इंतजार करना ही होगा. बहरहाल, बिहार की हवा में जो महसूस हो रहा है उसका आंशिक संकेत विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दे ही दिया कि बिहारी वोटर हुक्मरानो से कुछ तो नाराज है.


चन्‍द्रप्रकाश झा चन्‍द्रप्रकाश झा
काॅलम Published On :


बिहार विधान सभा चुनाव के बहुमत परिणाम आज लॉक हो गए. इसकी कुल 243 सीटों में से 165 के नतीजे आज तक इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीनों के इवीएम चिप में लॉक हो गए हैं. अब सिर्फ 84 सीटों के नतीजे इवीएम में लॉक होने से रह गए हैं। उसके लिए 7 नवंबर को तीसरे एवं अंतिम चरण में वोटिंग करायी जायेगी. सभी सीटों के लिए चिप में लॉक वोटों को अनलॉक कर उनकी गिनती 10 नवंबर की सुबह शुरु कर  शाम तक पूरी कर ली जायेगी. निर्वाचन आयोग तभी इनके परीणाम आधिकारिक रूप से घोषित करेगा.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना में वोट डालने के बाद हाथ की अंगुलियो से विक्ट्री साइन दिखाया. लेकिन अपने पुत्र तेजस्वी प्रसाद यादव के साथ वोट डालने के बाद राबड़ी देवी ने कहा : हमारे पास रिपोर्ट है. महागठबंधन जीत रहा है. मोदी सरकार के विधि मत्री एव बिहार से सांसद रविशंकर प्रसाद ने स्वीकार किया कि वोटर एनडीए से असंतुष्ट हैं. उन्होने कहा : थोड़ी नाराजगी है. लेकिन जीत तय है.

दूसरे चरण के चुनाव में मंगलवार को 17 जिलों की 94 सीटों पर वोटिंग में करीब तीन करोड़ मतदाताओं में से अनुमानित 50 से 55 प्रतिशत ने वोट डाले. निर्वाचन आयोग के सूत्रों ने मीडिया विजिल को बताया कि विभिन्न निर्वाचन क्षेत्रों से आज वोटिंग के जो फौरी आंकड़े मिले हैं उनका अन्तिम रूप कल मिल सकता है. आज शाम वोटिंग खत्म होने तक इन सीटों पर 2015 के चुनाव से कुछ ज्यादा ही अनुमानित 50 से 55 % मतदाताओं ने मताधिकार का उपयोग किया. चार बजे तक ही औसतन 50 प्रतिशत से अधिक मतदान हो चुका था.

जिन जिलो की सीटो के लिये आज वोटिंग हुई उनमें सीतामढ़ी, नालंदापटनाभागलपुर, शिवहरसारणगोपालगंज, मधुबनीसीवानखगड़ियासमस्तीपुर, पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चम्पारण, बेगूसरायदरभंगामुजफ्फरपुर और वैशाली शामिल हैं. 

 

बडे़ नेता 

राजधानी पटना के निवासी बिहार के राज्यपाल फागू चौहान , मुख्यमंत्री एव जनता दल यूनाइटेद (जदयू) प्रमुख नीतीश कुमारउपमुख्यमंत्री एवं जदयू के साथ नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस (एनडीए) में शामिल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता सुशील कुमार मोदी, पूर्व मुख्य्मंत्री एवं राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता राबड़ी देवी और उनके पुत्र एवं एनडीए-विरोधी महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद दावेदार तेजस्वी प्रसाद यादव ने अलग-अलग पोलिंग सेंटर जाकर वोट डाले. उनके पिता एवम् पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव चर्चित चारा घोटाला में भ्रष्टाचार के एक मामले मे दंडित होने के बाद झारखंड की एक जेल में कारावास से इलाज के लिये रांची मेडिकल कोलेज होस्पिटल में भर्ती हैं.  

आज की वोटिंग में एनडीए के जदयू के 43, भाजपा के 46,  विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के 5 प्रत्याशी हैं. महागठबंधन में शामिल राजद के 56, कांग्रेस के 24 , सीपीआई और सीपीएम के 4-4, पूर्व केंन्द्रीय उपमंत्री एवं राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा की अगुवाई में बने ‘ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेकुलर फ्रंट’ (जीडीएसएफ) में से  आरएलएसपी के 36, उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती की बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के 33 और मुस्लिम पह्चान की सियासत करने वाले सांसद असदउद्दीन ओवेसी की पार्टी के 3 प्रत्यशी भी हैं. हाल में दिवंगत हुए केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के पुत्र एव सांसद चिराग पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के 52, पूर्व रक्षा मंत्री शरद पवार की राष्ट्रीवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के भी 29 प्रत्याशी आज की वोटिंग में चुनाव मैदान में उतरे. पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी की हिंदुस्तान अवामी मोर्चा (हम ) एनडीए में शामिल है. पर आज की वोटिंग मे उसका कोई प्रत्याशी नहीं था.

इस बार के बिहार चुनाव मे पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव, पूर्व केंद्रीय मंत्री देवेंद्र प्रसाद यादव और उत्तर प्रदेश के दलित नेता चंद्रशेखर रावण की पर्टियों का भी अलग मोर्चा है.

राबडी देवी ने कहा: हर जगह महागठबंधन की जीत हो रही है. बिहार के लोग हमें रिपोर्ट दे रहे हैं. बिहार में बदलाव की गंगा बह रही है. लेकिन उनके बडे पुत्र एव हसनपुर से राजद प्रत्याशी तेजप्रताप यादव से अनबन के कारण अलग हुइ पत्नी एश्वर्या राय ने फरमाया: 10 नवंबर को एनडीए  आएगी सत्ता में. एनडीए की सरकार आएगी. तेज प्रताप यादव के ससुर और परसा सीट से जदयू प्रत्याशी चंद्रिका राय ने कहा: अगर 10 लाख की नौकरी देना आसान होता तो इसका वादा सभी करते, लेकिन ये आसान नहीं हैराजद  का वादा झूठा है. 

तेजस्वी यादव बोले : बिहार बुरे दौर से गुजर रहा था, बाढ़-कोरोना और मजदूरों की स्थिति सभी को पता है. मौजूदा सरकार से लोग काफी खफा हैं.बिहार को बदलाव चाहिए. आज बिहार के लोग पढ़ाई, दवाई, कमाई, सिंचाई, महंगाई, सुनवाई और कार्रवाई वाली सरकार को चुनना चाहते हैं. हमने पीएम को चिट्ठी लिखी है, सवाल पूछे गए हैं. उम्मीद है कि पीएम मोदी अपनी रैली में वो इन बातों पर सफाई देंगे.

रविशंकर प्रसाद यादव कहा कि चिराग ने खुद कहा है वो एनडीए में नही हैं. जब हमारे प्रधानमंत्री ने कह दिया कि नीतीश ही सीएम होंगेहमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कह दिया, जब गृहमंत्री ने कह दिया तो अब बीजेपी को अलग से कहने की जरूरत नहीं है कि नीतीश जी ही सीएम होंगें. केंद्रीय गृह राज्यमंत्री एव भाजपा नेता नित्यानंद राय ने दावा किया कि बिहार में एनडीए सन  2010 की जीत का आंकड़ा दोहराएगी.

सियासी नेताओं के दावे-प्रतिदावे जो भी हो करीब दो तिहाई बिहारी वोटरो ने अपना वोट दे दिया है. उनके और बाकी बिहारियों के भी जनादेश के खुलकर सामने आने में 10 नवम्बर तक इंतजार करना ही होगा. बहरहाल, बिहार की हवा में जो महसूस हो रहा है उसका आंशिक संकेत विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दे ही दिया कि बिहारी वोटर हुक्मरानो से कुछ तो नाराज है. 



*मीडिया हल्कों में सीपी के नाम से मशहूर चंद्र प्रकाश झा 40 बरस से पत्रकारिता में हैं और 12 राज्यों से चुनावी खबरें, रिपोर्ट, विश्लेषण के साथ-साथ महत्वपूर्ण तस्वीरें भी जनता के सामने लाने का अनुभव रखते हैं। सी.पी. आजकल बिहार में अपने गांव में हैं और बिहार में बढ़ती चुनावी आहट और राजनीतिक सरगर्मियों को हम तक पहुँचाने के लिए उनसे बेहतर कौन हो सकता था।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।