क्या राफ़ेल घोटाले पर सही थे राहुल! प्रियंका बोलीं- सूरज,चाँद और सत्य छिप नहीं सकते!


फ्रांस में राफे़ल डील की जाँच के लिए जज की नियुक्ति हो गयी है। अगले पिछले दोनों राष्ट्रपति संदेह के घेरे में हैं। मोदी सरकार ने भारत में इस मुद्दे को दफ़ना दिया था, लेकिन फ्रांस में बवाल मच गया है और तमाम दस्तावेज़ राहुल गाँँधी की इस बात को प्रमाणित कर रहे हैं कि इस सौदे में भारी भ्रष्टाचार हुआ।


मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


राफ़ेल घोटाले पर न्यायिक जाँच शुरू होने से भारत में भी सियासी घमासान शुरू हो गया है। कांग्रेस इस मुद्दे पर एक बार फिर आक्रामक है।  पिछले चुनाव में राहुल गाँधी ने इस मुद्दे को ज़ोर-शोर से उछाला था, लेकिन पुलवामा हमले के धुंध में बीजेपी दोबारा सत्ता पाने में क़ामयाब  हो गयी थी। बाद में भारत में जाँच होने की सारी संभावनाओं को भी गोल कर दिया गया, पर फ्रांस में शुरू हुई जाँच ने राफेल के जिन्न को बोतल से फिर बाहर कर दिया है। ये बात बार-बार उठ रही है कि क्या राहुल गाँधी राफ़ेल के मुद्दे पर सही साबित हो रहे है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी ने भगवान बुद्ध के हवाले से ट्वीट किया है कि सूरज, चाँद और सत्य बहुत दिनों तक छिप नहीं सकते।

 

इससे पहले कल राहुल गाँधी ने भी ट्वीट करके इशारों-इशारों में पीएम मोदी पर तगड़ा तंज़ किया था-

उधर, प्रशांत भूषण और अरुण शौरी के साथ राफ़ेल मुद्दे की जाँच का मुद्दा ज़ोर-शोर से उठाने वाले, अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे यशवंत सिन्हा न भी एक बार फिर मोदी सरकार के न खाऊँगा, न खाने दूँगा को लेकर तंज़ किया है–

 

इस पूरे मामले को समझे के लिए नीचे की हेडलाइन पर क्लिक करें–

राफ़ेल डील में अगले-पिछले राष्ट्रपति संदिग्ध! फ्रांस में शुरू हुई सौदे में भ्रष्टाचार की न्यायिक जाँच!

 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।