“किसानों का दमन बंद कीजिए’: वरुण गांधी ने वाजपेयी का भाषण शेयर कर BJP पर बोला हमला!

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


बीजेपी सांसद वरुण गांधी लगातार अपनी पार्टी के खिलाफ किसानों के लिए आवाज़ उठाने को लेकर चर्चा में बने हुए हैं। उन्होंने कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों का एक बार फिर समर्थन किया और अपनी ही पार्टी की सरकार को घेरा है। गुरुवार को वरुण ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का एक पुराना वीडियो किसानों के समर्थन में अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर कर लिखा है बड़े दिल वाले नेता के समझदार शब्द। अटल बिहारी वाजपेयी के भाषण के जरिए उन्होंने सरकार द्वारा किसान आंदोलन को दबाने का इशारे किए और यह बताना चाहा कि वह अपने कर्तव्य को ध्यान में रखते हुए किसानों के साथ खड़े हैं।

“मैं सरकार को चेतावनी देना चाहता हूं”……

वरुण गांधी द्वारा शेयर किए गए वीडियो में अटल बिहारी वाजपेयी किसानों के मुद्दे पर उस समय की तत्कालीन सरकार को चेतावनी देते हुए कह रहे हैं- मैं सरकार को चेतावनी देना चाहता हूं, दमन के तरीके छोड़ दीजिए। डराने की कोशिश मत कीजिये। किसान डरने वाला नहीं है। हम किसानों के आंदोलन का दलीय राजनीति के लिए उपयोग नहीं करना चाहते हैं, लेकिन हम किसानों की उचित मांग का समर्थन करते हैं और अगर सरकार दमन करेगी, कानून का दुरूपयोग करेगी, शांतिपूर्ण आंदोलन को दबाने की कोशिश करेगी तो किसानों के संघर्ष में कूदने में हम संकोच नही करेंगे। हम उनके साथ कंधे से कंधा लगाकर खड़े रहेंगे।

वरुण गांधी भाजपा छोड़ सकते हैं?

वरुण गांधी और बीजेपी के बीच रस्साकशी चल रही है। वरुण ने भाजपा सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इस बार अटल बिहारी वाजपेयी के बहाने वरुण गांधी ने सीधे सरकार पर निशाना साधने की कोशिश की है। वरुण के लगातार किसानों के समर्थ में आ रहे बयानों से पार्टी के लिए असहज स्थिति पैदा हो रही है और शायद इसी वजह से उन्हें इस बार पार्टी की नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी से भी बाहर कर दिया गया है। सिर्फ उन्हें ही नही बल्कि उनकी मां मेनका गांधी को भी कार्यकारिणी से हटा दिया गया है। इस बीच यह भी चर्चा है कि वरुण गांधी और मेनका गांधी बीजेपी छोड़ सकते हैं। हालांकि बीजेपी और वरुण गांधी दोनों ने इसे निराधार अफवाह बताते हुए खारिज किया है, लेकिन जानकारों का मानना है कि वरुण गांधी, मेनका गांधी और बीजेपी के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।