UP : दरवेश यादव की अंत्‍येष्टि में पहुंचे कानून मंत्री, प्रदेश भर के वकील धरने पर, विपक्ष गरम

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


यूपी बार काउंसिल की पहली महिला अध्‍यक्ष चुनी गईं दरवेश यादव का आज एटा स्थित उनके पैतृक गांव चांदपुर में अंतिम संस्‍कार कर दिया गया। बुधवार को आगरा की दीवानी अदालत में एक सहयोगी वकील ने गोली मारकर दरवेश की हत्‍या कर दी थी और बाद में खुद को भी गोली मार ली थी।

गोली चलाने वाले वकील सहित दो अन्‍य पर मुकदमा कायम हो चुका है। मुकदमा दरवेश के भतीजे ने करवाया है। दरवेश के परिवार ने हत्‍या की सीबीआइ जांच की मांग उठायी है। मौका-ए-वारदात पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है ओर आगरा की दीवानी अदालत परिसर के द्वार पर मेटल डिटेक्‍टर और बैरिकेडिंग लगा दी गई है।

आज हुई दरवेश की अंत्‍येष्टि में प्रदेश के कानून मंत्री ब्रजेश पाठक पहुंचे थे। पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने इस घटना पर ट्वीट किया है।

इस हत्‍या पर उत्‍तर प्रदेश के वकील हड़ताल पर चले गए हैं और अदालतें ठप हैं। बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने मुआवजे की मांग की है तो दिल्‍ली हाइकोर्ट के बार ने विज्ञप्ति जारी करते हुए घटना की निंदा की है।

यह मामला अब राजनीतिक रंग ले चुका है। पश्चिम बंगाल युवा कांग्रेस से लेकर लालू प्रसाद यादव की पार्टी आरजेडी तक ने घटना पर रोष जाहिर किया है।

दो दिन पहले ही दरवेश को यूपी बार काउंसिल का अध्यक्ष चुना गया था. यूपी बार काउंसिल के इतिहास में दरवेश पहली महिला अध्यक्ष बनी थीं. यूपी बार काउंसिल का चुनाव रविवार को प्रयागराज में हुआ था. कोर्ट परिसर में दरवेश यादव के स्वागत में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था और इसी कार्यक्रम के दौरान इनके सहयोगी और प्रतिनिधि के रूप में काम कर चुके वकील मनीष शर्मा ने गोली मार दी. दरवेश को गोली मारने के बाद मनीष ने ख़ुद को भी गोली मार ली. दरवेश को तत्काल पुष्पांजलि हॉस्पिटल पहुंचाया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं सका. मनीष शर्मा की भी हालत गंभीर है.

आगरा के एडीजी अजय आनंद के अनुसार, बुधवार दोपहर बाद क़रीब तीन बजे यूपी बार काउंसिल की अध्‍यक्ष दरवेश यादव और अधिवक्‍ता मनीष शर्मा के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया. विवाद इतना बढ़ा कि अधिवक्ता मनीष शर्मा ने दरवेश यादव को तीन गोली मारी.

साथ ही योगी सरकार से अपने सदस्यों की सुरक्षा और मृतक के परिवार के लिए कम से कम 50 लाख रुपए की सहायता राशि की मांग की है.

दरवेश सिंह यादव बार काउंसिल के 24 सदस्यों में अकेली महिला थीं. 2016 में वे बार काउंसिल की उपाध्यक्ष और 2017 में कार्यकारी अध्यक्ष रह चुकी थीं.


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।