शाहीन बाग जायेंगे आज शाम चंद्रशेखर आज़ाद, ट्वीट कर दी जानकारी!

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


कोर्ट से इजाजत मिलने के बाद भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद बुधवार शाम शाहीन बाग आएंगे. आजाद ने बुधवार को ट्वीट कर घोषणा की कि वो शाहीन बाग जाएंगे.भीम आर्मी चीफ ने बुधवार को किए गए अपने एक ट्वीट में लिखा, “साथियों जय भीम, आज शाम को हमारे संघर्ष की भूमि शाहीन बाग आ रहा हूं.”

इससे पहले मंगलवार को एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा था,”जय भीम साथियों, माननीय न्यायालय ने मुझे दिल्ली आने की इजाजत दे दी है मैं न्यायपालिका का धन्यवाद करता हूं,इससे न्यायपालिका में लोगों का विश्वास और बढ़ेगा.”

गौरतलब है कि अदालत ने मंगलवार को भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद की जमानत शर्तों में बदलाव करते हुए उन्हें दिल्ली आने-जाने की अनुमति दे दी थी.

हालांकि, दिल्ली आने से पहले उन्हें दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा के पुलिस उपायुक्त को इसकी सूचना देनी होगी. इतना ही नहीं, अदालत ने आजाद को दिल्ली विधानसभा की चुनावी गतिविधियों व रैलियों में शामिल होने की भी इजाजत दे दी.

तीस हजारी स्थित अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश कामिनी लॉ ने जमानत शर्तों में बदलाव की मांग को लेकर दाखिल अर्जी पर यह आदेश दिया. आजाद ने अदालत में अर्जी दाखिल कर जमानत शर्तों में बदलाव करने, इलाज कराने और चुनावी गतिविधियों में शामिल होने की अनुमति मांगी थी. इससे पूर्व 15 जनवरी को जमानत पर रिहा करने का आदेश देते हुए विधानसभा चुनाव तक दिल्ली आने या किसी तरह के धरना प्रदर्शन करने पर रोक लगा दी थी.

आज ही नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ 140 से अधिक याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए जब सुप्रीम कोर्ट ने इस पर रोक लगाने से इंकार करते हुए केंद्र सरकार को जवाब देने के लिए 4 सप्ताह का समय दे दिया ऐसे में भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद, स्वामी अग्निवेश और राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष वजाहत हबीबुल्लाह ने नागरिकता संशोधन कानून, राष्ट्रीय नागरिक पंजी और राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है.



 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।