Home ख़बर तूफ़ान ने ली 100 से ज्यादा लोगों की जान, सबसे ज्यादा तबाह...

तूफ़ान ने ली 100 से ज्यादा लोगों की जान, सबसे ज्यादा तबाह UP और राजस्थान

SHARE

बुधवार की रात आई आंधी से पूरे उत्तर भारत का जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया. उत्तर भारत के राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, झारखण्ड सहित कई और राज्यों में 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई. उत्तर प्रदेश में 65, राजस्थान में 45, झारखंड में 7 और उत्तराखंड में 2 लोगों की मौत की खबर है. राज्य सरकारों ने खराब मौसम और इस हालत से निपटने के लिए तमाम राहत कार्य शुरू किए हैं. उत्तर प्रदेश सरकार ने मरने वालों को सहायता दिए  जाने की घोषणा की है, वहीं घायलों को 12 हजार 700 रुपए की सहायता देने की घोषणा की है. राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी मृतक आश्रितों के लिए 4-4 लाख रुपए सहायता राशि देने की घोषणा की है. झारखण्ड, उत्तराखंड की सरकारों ने भी मदद का आश्वासन दिया है.

बुधवार की शाम आई तेज आंधी और बरसात ने आम लोगों का जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित कर दिया है. तेज आंधी में कई लोगों को अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ा है. देश के विभिन्न राज्यों में आए बारिश के साथ आई आंधी और तूफान की वजह से जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है. सौ से ज्यादा मरे हैं और सैकड़ों लोग घायल हुए हैं.

उत्तर प्रदेश में बुधवार रात आई तेज आंधी-बारिश के कारण हुए हादसों में कम से कम 65 लोगों की मौत हो गई तथा 47 अन्य घायल हो गये. प्रदेश के राहत आयुक्त संजय कुमार ने गुरुवार को बताया कि दो मई की रात सूबे में आई तेज़ आंधी-तूफान, बिजली गिरने और ओलावृष्टि के कारण हुए हादसों में लोगों की मौत हुई.

सबसे ज़्यादा जनहानि आगरा ज़िले में हुई जहां 36 लोगों की मौत हो गई. इसके अलावा 35 अन्य ज़ख़्मी हो गए. अन्य प्रभावित ज़िलों में बिजनौर बरेली, शाहजहांपुर, पीलीभीत, फिरोज़ाबाद, चित्रकूट, मुज़फ़्फ़रनगर, राय बरेली और उन्नाव शामिल हैं. कुमार ने बताया कि बिजनौर में तीन, सहारनपुर में दो और बरेली, चित्रकूट, रायबरेली तथा उन्नाव में एक-एक व्यक्ति की भी मौत हुई है. पूरे प्रदेश में कुल 47 लोग घायल हुए हैं.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संबंधित ज़िलों के ज़िलाधिकारियों को आंधी-तूफान तथा बारिश से प्रभावित लोगों को तत्काल राहत पहुंचाने का निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि संबंधित ज़िलाधिकारी नुकसान का आकलन करते हुए प्रभावितों को बिना देर किए मुआवज़ा प्रदान करें. राहत कार्यों में किसी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

राजस्थान के कुछ हिस्सों में आई तेज़ आंधी में 45 लोगों की मौत, लगभग 100 लोग घायल

राजस्थान के कुछ हिस्सों में बुधवार रात आई तेज़ आंधी में 27 लोगों की मौत हो गई और लगभग 100 लोग घायल हो गए. आपदा प्रबंधन और राहत सचिव हेमंत कुमार गेरा ने बताया कि प्रदेश के मत्स्य क्षेत्र में दो मई की रात आई तेज़ आंधी में कई मकान ढह गए और बिजली के कई खंभे तथा पेड़ उखड़ गए जिससे कारण कई लोगों की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गए.

उन्होंने बताया कि तेज़ आंधी ने मुख्य रूप से तीन ज़िलों को प्रभावित किया. इसके कारण प्रदेश के भरतपुर में 12 लोगों की, धौलपुर में 10 लोगों की और अलवर में पांच लोगों की मौत हो गई. गेरा ने बताया कि तेज़ आंधी के कारण अलवर में 20 लोग, भरतपुर में 32 लोग और धौलपुर में 50 लोग घायल हो गए. घायलों में कुछ का उपचार जारी है जबकि अन्य लोगों को घर भेज दिया गया है. धौलपुर में एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हुआ है और उसे जयपुर रेफर किया गया है.

उन्होंने बताया कि आंधी आपदा की विस्तृत रिपोर्ट की प्रतीक्षा है, हालांकि राहत दलों को सड़कों से मलबा हटाने, बिजली की सप्लाई को चालू करने सहित अन्य राहत कार्यों में लगाया गया है. उन्होंने बताया कि आंधी प्रभावित ज़िला प्रशासन को आकस्मिक निधि कोष से राशि जारी की गई है. मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये का मुआवज़ा, 60 प्रतिशत तक घायल हुए लोगों को दो-दो लाख रुपये का मुआवज़ा, 40 से 50 प्रतिशत तक घायल हुए लोगों को 60-60 हजार रुपये का मुआवज़ा दिया जाएगा.

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने प्राकृतिक आपदा पर दुख व्यक्त करते हुए ज़िला प्रशासन को निर्देश दिया है कि वह पीड़ितों को हर संभव राहत पहुंचाए.

 

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.