तमिलनाडु सरकार के आदेश पर वेदांता का तूतीकोरिन प्लांट सील, अब LSE से निकालने की मांग

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


तमिलनाडु के तूतीकोरिन में बहुराष्‍ट्रीय कंपनी वेदांता के स्‍टरलाइट कॉपर संयंत्र पर अब ताला लग जाएगा। तमिलनाडु सरकार ने कारखाने को सील करने का आदेश दिया है।

वेदांता द्वारा बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज और नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज को 28 मई को भेजी गई एक लिखित सूचना के अनुसार तमिलनाडु सरकार की ओर से कंपनी को सूचना प्राप्‍त हुई है जिसमें राज्‍य सरकार ने तमिलनाडु प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को कंपनी के कॉपर स्‍मेल्‍टर प्‍लांट 1, थुथीकुडी जिला, तमिलनाडु को सील करने का आदेश जारी किया है।

वेदांता लिमिटेड की ओर से कंपनी सचिव भूमिका सूद द्वारा सेबी के नियम 30 के अंतर्गत शेयर बाजारों को दी गई इस सूचना में कहा गया है कि कंपनी अभी आदेश का अध्‍ययन कर रही है और आगे के घटनाक्रम से स्‍टॉक एक्‍सचेंजों को अवगत कराएगी।

इस प्‍लांट से फैल रहे प्रदूषण के खिलाफ स्‍थानीय बीते तीन महीने से विरोध प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन पिछले हफ्ते प्रदर्शन का 100 दिन पूरा होने पर करीब 15000 स्‍थानीय जनता पर पुलिस की गोलीबारी हुई जिसमें 13 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी। ये लोग प्‍लांट को स्‍थायी रूप से बंद करने की मांग कर रहे थे। कंपनी ने दूसरे प्‍लांट पर भी काम चालू कर दिया था ताकि उसकी उत्‍पादन क्षमता दोगुनी हो जाए लेकिन गोलीबारी की घटना के बाद मद्रास उच्‍च न्‍यायालय ने उस पर रोक लगा दी।

इस प्‍लांट से प्रदूषण का विवाद बीते आठ साल से चल रहा है, लेकिन बीते मंगलवार विरोध प्रदर्शन अपने चरम पर पहुंच गया जिसके बाद 13 लोगों की पुलिस ने हत्‍या कर दी और कई घायल हो गए। दुनिया भर में इस बर्बर कृत्‍य की निंदा हुई है। जैसी तस्‍वीरें आई हैं, वे बताती हैं कि इस गोलीबारी कांड में पुलिस ने स्‍नाइपरों के माध्‍यम से लोगों को चुन-चुन कर गोली मारी है।

देर शाम आई इस ख़बर से पहले दिन में वेदांता के संबंध में लंदन से एक और ख़बर आई थी। मंगलवार की घटना के खिलाफ ब्रिटेन की लेबर पार्टी ने वेदांता को लंदन स्‍टॉक एक्‍सचेंज से हटाने की मांग उठाई। शुक्रवार को यूके के शैडो चांसलर जॉन मैक्‍डॉनेल का बयान आया था, ”इस हफ्ते प्रदर्शनकारियों के नरसंहार के बाद नियामकों को कोई कार्रवाई करनी चाहिए।”

शनिवार को लंदन स्थित भारतीय उच्‍चायुक्‍त के दफ्तर के बाहर प्रदर्शनकारियों ने जमा होकर वेदांता का विरोध भी किया। इस प्रदर्शन का आयोजन फॉयल वेदांता, तमिल पीपॅल इन द यूके, पेरियार आंबेडकर स्‍टडी सर्किल और तमिल सॉलिडरिटी सहित अन्‍य संगठनों ने किया।

 

यह भी पढ़ें: 

बीजेपी को 19 करोड़ का चंदा देने वाली वेदांता और सरकारों के खूनी गठजोड़ का इतिहास!

वेदांता के मालिक अनिल अग्रवाल के लन्दन वाले घर पर तमिलों का तगड़ा विरोध प्रदर्शन


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।