सोनिया समेत 10 विपक्षी नेताओं ने राष्ट्रपति को लिखा- स्टेन स्वामी की मौत के ज़िम्मेदार पर एक्शन हो!


पत्र में राष्ट्रपति से माँग की गयी है कि वे ‘अपनी सरकार’ को ऐसे लोगों के खिलाफ़ कार्रवाई का निर्देश दें जिन्होंने फादर स्टेन स्वामी को झूठे मामले में फँसाया। इसके अलावा जिन लोगों को भीमा कोरेगाँव केस में राजनीतिक कारणों से बंद किया गया है या यूएपीए की धाराएँ लगायी गयी हैं, उन्हें रिहा किया जाये।


मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


देश के दस विपक्ष दलों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविद को पत्र लिखकर स्टेन स्वामी की मृत्यु के ज़िम्मेदार लोगों पर कार्रवाई की माँग की है।

पत्र में लिखा गया है कि मानवाधिकार और आदिवासियों के हित में समर्पित फादर स्टेन स्वामी को भीमा कोरेगावँ केस में यूएपीए के तहत गिरफ्तार किया गया। वे पर्किंसन्स जैसी बीमारी से ग़ुज़र रहे थे, लेकिन उनका इलाज नहीं कराया गया, यहाँ तक कि उन्हें पानी पीने के लिए सिपर तक नहीं दिया गया। उनके बेल की अपील भी रिजेक्ट होती रही। बाद में अदालत के आदेश से उन्हें अस्पताल भेजा गया, लेकिन उन्हें बचाया न हीं जा सका।

पत्र में राष्ट्रपति से माँग की गयी है कि वे ‘अपनी सरकार’ को ऐसे लोगों के खिलाफ़ कार्रवाई का निर्देश दें जिन्होंने फादर स्टेन स्वामी को झूठे मामले में फँसाया। इसके अलावा जिन लोगों को भीमा कोरेगाँव केस में राजनीतिक कारणों से बंद किया गया है या यूएपीए की धाराएँ लगायी गयी हैं, उन्हें रिहा किया जाये।

पत्र में कांग्रेस की ओर से पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी, एनसीपी से शरद पवार, डीएमके से एम.के.स्टालिन, जेएमएम से हेमंत सोरेन, जेडीएस से एच.डी.देवगौड़ा, जेकेपीए से फारुक़ अब्दुल्लाह, आरजेडी से तेजस्वी यादव, सीपीआई से डी.राजा और सीपीआईएम से सीताराम येचुरी का नाम है।


Related