शिवपाल से मिले ओवैसी, अखिलेश को झटका! भीम आर्मी भी भागीदारी संकल्प मोर्चा का हिस्सा..

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


यूपी विधानसभा 2022 के लिए समाजवादी पार्टी छोटे दलों के साथ गठबंधन कर भाजपा के विरुद्ध लड़ना चाहती है। इस बीच अखिलेश और चाचा शिवपाल सिंह यादव की पार्टी के विलय की बात भी सामने आ रही थी, दोनो ही पार्टियां विलय करवाने के लिए तैयार नज़र आ रही थी, लेकिन अब चंद्रशेखर आज़ाद के नेतृत्व वाली भीम आर्मी भी सुभासपा अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर द्वारा गठित भागीदारी संकल्प मोर्चा का हिस्सा होगी। दोनों नेताओं के बीच बातचीत में साथ आने पर सहमति बनी है।

अगले कुछ दिनों में दोनों नेता साथ आने का ऐलान करेंगे। अब इससे अखिलेश यादव के वोट बैंक में सेंध लगना तय है। क्योंकि ओम प्रकाश राजभर और AIIMS अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी मोर्चा कबीले को बढ़ाने के लिए प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के साथ लगातार संपर्क में हैं। अगर शिवपाल और ओवैसी के बीच समझौता हो जाता है तो इससे अखिलेश यादव को झटका मिल सकता है, इसका असर सपा के वोट बैंक पर होना निश्चित है।

हालांकि, सामाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष चाचा शिवपाल सिंह यादव दोनो ने ही विलय से इंकार नही किया था, लेकिन शायद पहले हाथ बढ़ने में दोनों ही संकोच कर रहे थे। जब भी दोनो नेताओं से पार्टियों के विलय के लिए सवाल किए गए दोनो ने कुछ शर्तों के साथ हां में ही जवाब दिया, जिससे उम्मीद थी की दोनो साथ आयेंगे। पर अब शिवपाल और ओवैसी के बीच का संपर्क अखिलेश की पार्टी में शिवपाल के शामिल होने पर विराम लगा रहा है।

ओवैसी की शिवपाल यादव से मुलाकात..

दरअसल, ओवैसी मंगलवार रात शिवपाल यादव के आवास पर गए और उनसे मुलाकात की। इससे माना जा रहा है कि मोर्चे में शिवपाल को शामिल करने का प्रस्ताव रखा गया था। हालांकि, इसी सिलसिले में शिवपाल ने अभी तक अपना रुख स्पष्ट नहीं किया है। वहीं, इस बात की पुष्टि ओम प्रकाश राजभर ने की है की भीम आर्मी के भागीदारी संकल्प मोर्चा में शामिल होगी। राजभर ने कहा है कि बहुत जल्द लखनऊ में इसकी घोषणा की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस मुद्दे पर चंद्रशेखर से कई दौर की बातचीत हो चुकी है। राजभर का मानना ​​है कि चंद्रशेखर के मोर्चे में शामिल होने से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मोर्चे की ताकत और बढ़ेगी।

जल्द से जल्द सीटों का बंटवारा करने का निर्णय..

मंगलवार को ही ओम प्रकाश राजभर और असदुद्दीन ओवैसी ने एक होटल में करीब डेढ़ घंटे तक बैठक की। इस बैठक में घटक दलों से विचार विमर्श कर जल्द से जल्द सीटों का बंटवारा करने का निर्णय लिया गया है। राजभर का दावा है कि इंसाफ विकास पार्टी के मुकेश साहनी से बातचीत चल रही है और जल्द ही उनकी पार्टी भी मोर्चे का घटक बन सकती है। ओम प्रकाश ने बताया कि उनके मोर्चे के संयुक्त कार्यक्रम 27 अक्टूबर को मऊ से शुरू होंगे। उस दिन मऊ में एक सम्मेलन होगा जिसमें मोर्चे के सभी घटक दलों के नेता शामिल होंगे। इसके बाद जनसभा और रैलियों का सिलसिला शुरू हो जाएगा।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।