शाहीन बाग की महिलाओं ने भेजा BJP IT Cell के हेड अमित मालवीय को मानहानि का नोटिस

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :

अमित मालवीय


नागरिकता संशोधन कानून, एनपीआर और एनआरसी के खिलाफ पिछले 36 दिन से दिल्ली के शाहीन बाग में धरने पर बैठी महिलाओं ने बीजेपी आईटी सेल हेड अमित मालवीय को एक करोड़ रुपए का मानहानि का नोटिस भेजा है. मालवीय ने एक वीडियो शेयर महिलाओं पर 500 रुपए लेकर प्रदर्शन में शामिल होने के आरोप लगाए थे.

नोटिस में मालवीय से माफ़ी मांगने और 1 करोड़ रुपये हर्जाने के रूप में देने की मांग की गई है. यह नोटिस एडवोकेट महमूद पारचा के ऑफ़िस की ओर से भेजा गया है.

शाहीन बाग़ में नागरिकता संशोधन क़ानून, नेशनल रजिस्टर ऑफ़ सिटीजंस (एनआरसी) के ख़िलाफ़ चल रहे धरने को एक महीने से ज़्यादा का वक्त हो गया है. कुछ दिन पहले ही सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें कहा गया था कि आंदोलन में बैठी महिलाएं 500 रुपये लेकर धरने पर बैठ रही हैं.

मालवीय को ये नोटिस नफीसा बानो और शहज़ाद फातमा नाम की दो प्रदर्शनकारी महिलाओं की ओर से भेजा गया है. नोटिस में कहा गया है, “आपने प्रदर्शनकारी महिलाओं के खिलाफ झूठे आरोप लगाकर और उनको प्रचारित करके अपने संवैधानिक अधिकारों के तहत लोगों का ध्यान खींच रहे प्रदर्शनकारियों का अपमान किया है.”