लखनऊ: ऑक्सीजन और अस्पताल नहीं, योगी पर भरोसे की ‘गोली’ मिली, मर गया बुज़ुर्ग पत्रकार!

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


लखनऊ के  विकास नगर के रहने वाले स्‍वतंत्र पत्रकार विनय श्रीवास्‍तव का आक्सीजन लेवल घट गया था। वे लगातार ट्विटर पर अपना हाल बयान करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को टैग कर रहे थे, लेकिन उनको अस्पताल में घुसने नहीं दिया गया। आखिरकार उनकी जान चली गयी।

 

65 साल के एक बुजुर्ग विनय श्रीवास्तव ने अपनी तबीयत खराब होने पर मुख्‍यमंत्री को टैग कर ट्विटर पर मदद मांगीतो बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उन्हें भरोसा रखने की सलाह दी। कुछ लोगों ने उन्हें कांग्रेसी बताया। घंटों इंतजार के बाद भी उनके घर एंबुलेंस नहीं पहुंची और इस बीच ऑक्‍सीजन लेवल 31 पहुँच गया और  उनकी मौत हो गई। इसके पहले वे अपना हाल लगातार ट्विटर पर डालकर गिड़गिड़ा रहे थे। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

विकास के बेटे हर्षित श्रीवास्‍तव ने आरोप लगाया कि वह अपने पिता को कई अस्‍पतालों में लेकर गए, लेकिन किसी ने उनको भीतर घुसने तक नहीं दिया। सबने उनसे कोविड टेस्‍ट रिपोर्ट के साथ आने के लिए कहा। उन्‍होंने डॉक्‍टरों से बहुत विनती की कि रिपोर्ट तो 24 घंटे बाद आएगी पर किसी ने उनकी नहीं सुनी। सबने मिलकर उनके पापा को मार डाला।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।