ऑक्सीजन नहीं, मौत मिल रही है मरीज़ों को गोवा में!

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


गोवा मेडिकल कॉलेज में लगातार फिर 13 मरीज़ों की जान ऑक्सीजन की कमी से गई

देश भर में जहां एक ओर केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी की ओर से ये माहौल बनाया जा रहा है कि देश भर में कहीं भी ऑक्सीजन या किसी तरह की स्वास्थ्य सेवा की कोई कमी नहीं है, वहीं गोवा के गोवा मेडिकल कॉलेज में फिर से एक बार ऑक्सीजन की कमी से लोगों की जान गई है। गोवा मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में गुरूवार(शुक्रवार सुबह) रात दो बजे से सुबह 6 बजे के बीच 13 लोगों की मौत हो गई है। और ये मौतें ऑक्सीजन लेवल की कमी से हुई है। ऐसा भी नहीं है कि ये इस अस्पताल में पहली बार हुआ है। न केवल इस अस्पताल में ये लगातार दूसरी बार हुआ है, बल्कि गुरूवार को इस बारे में बॉम्बे हाईकोर्ट की गोवा खंडपीठ ने इस बारे में राज्य सरकार पर कड़ी टिप्पणी की थी।

अदालत ने हाल ही की थी टिप्पणी

बॉम्बे हाईकोर्ट की गोवा बेंच कोरोना ने कोरोना संकट से जुड़े कई मामलों की सुनवाई करते हुए कहा है “हमारे सामने पेश किए गए दस्तावेज़ स्पष्ट रूप से दिखाते हैं कि मरीज़ वास्तव में कष्ट में हैं और कुछ मामलों में ऑक्सीजन की कमी के कारण उनकी जान चली गई है.”

इस मामले में अदालत के सामने, ये जानकारी कि गोवा में शुक्रवार को भी ऑक्सीजन की कमी (Oxygen Shortage) के चलते 13 मरीजों की मौत हो गई, राज्य के एडवोकेट जनरल ने बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) की गोवा बेंच को दी।

गोवा सरकार ने बनाई कमेटी

अदालत के दबाव में गोवा सरकार ने मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सप्लाई रुकने को लेकर एक कमेटी बना दी है। इस कमेटी में IIT के बीके मिश्रा, GMC के पूर्व डीन वी एन जिंदर और तारिक थॉमस शामिल किए गए हैं। इस कमेटी को ये काम दिया गया है कि वह अस्पताल की ऑक्सीजन सप्लाई पर निगरानी रखे और मुश्किलतलब मामलों को सामने लाए। इस कमेटी को तीन दिन में अपनी रिपोर्ट देने को कहा गया है। सवाल ये है कि क्या ये कमेटी वाकई सच तलाशेगी या सरकार के हक़ में बात करेगी?

कांग्रेस करेगी गोवा सरकार के ख़िलाफ़ आपराधिक केस

इस बीच गोवा मेडिकल कॉलेज में लगातार होती मौतों के मामले में कांग्रेस, सीएम प्रमोद सावंत और गोवा के स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ क्रिमिनल केस दर्ज कराने की तैयारी में जुट गई है। गोवा कांग्रेस प्रमुख गिरीश चोडनकर ने कहा है कि वे इन दोनों के खिलाफ आपराधिक शिकायत दर्ज कराने की तैयारी में हैं और जरूरत पड़ने पर अदालत भी जा सकते हैं।

गोवा के बिगड़े हालात

गोवा में पिछले कुछ दिनों से ऑक्सीजन की कमी के कारण हालात तेज़ी से बिगड़े हैं। मंगलवार को 26, बुधवार को 20, गुरुवार को 15 तो अब शुक्रवार को 13 लोगों की मौत इसी कारण से होने की ख़बर है। अभी तक इस कारण मरने वालों का आंकड़ा तो ये है ही लेकिन केवल बुधवार को ही 75 लोगों की मौत से गोवा हिल गया है। ऐसे में अगर गोवा में ऑक्सीजन की किल्लत ऐसे ही बनी रही तो राज्य के छोटे आकार को देखते हुए, संक्रमण और तेज़ी से फैल सकता है और स्थिति नियंत्रण से बिल्कुल बाहर निकल सकती है।

 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।