बेरोज़गारी से ऊब कर फाँसी लगा ली राजीव पटेल ने, लिखा-माँ मुझे माफ़ करना!

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


इलाहाबाद, अब प्रयागराज के छोटा बघाड़ा इलाके में रहने वाले एक प्रतियोगी छात्र राजीव पटेल ने हताश होकर ख़ुदकुशी कर ली। पता चला है कि वह बेरोज़गारी से बेहद परेशाना था। इस दौरान जिसे बड़े पैमाने पर नौकरियाँ जा रही हैं, इससे वह और हताश हो गया था। ठीक एक महीने पहले उसने प्रधानमंत्री मोदी की बेरोज़गारी के प्रति रवैये पर तंज़ करते हुए एक ट्वीट किया था।

राजीव ने जो लिखा उसका अर्थ है कि आत्मनिर्भरता शब्द बेरोज़गारी का पर्याय है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी पिछले कई भाषणों में आत्मनिर्भरता की बात कर  रहे हैं और रोज़गार के मुद्दे पर चुप्पी साधे हुए हैं।

राजीव ने अपने परिजनों को एक मार्मिक पत्र लिखकर उनसे माफी माँगी है कि वह अच्छा बेटा या बड़ा भाई न बन सका। छोटा बघाड़ा इलाहाबाद का वह इलाका है जहाँ आस पास के जिलों से आये हजारों छात्र छोटे-छोटे कमरों में रहते हुए प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते हैं। इलाहाबाद के कई इलाके ऐसे ही छात्रों की तक़लीफ़ का समंदर बने हुए हैं और अक्सर कोई ज़िंदगी से ऊब जाता है। आप नीचे राजीव का पत्र पढ़ सकते हैं–



 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।