वैक्सीन को लेकर राहुल गांधी का सरकार से सवाल- आखिर भारत सरकार बूस्टर शॉट्स कब शुरू करेगी?

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार से सवाल किया है कि आखिर सरकार कब बूस्टर डोज उपलब्ध कराएगी। राहुल गांधी लगातार केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमलावर रहते हैं। कोरोना की दूसरी लहर में भी सरकार की नाकामी पर वह सरकार से तीखे सवाल करते नज़र आए है। अब उन्होंने बूस्टर डोज के मुद्दे पर सरकार को घेरना शुरू किया है।

अधिकांश आबादी का अभी भी टीकाकरण नहीं: राहुल गांधी

राहुल गांधी ने दावा किया कि देश में कोरोना टीकाकरण अभियान धीमा हुआ है। उन्होंने बुधवार को ट्वीट के जरिए एक आंकड़ा शेयर करते हुए सवाल किया और कहा कि हमारी अधिकांश आबादी का अभी भी टीकाकरण नहीं हुआ है। भारत सरकार बूस्टर शॉट्स कब शुरू करेगी?

60% लोगों के टीकाकरण का था लक्ष्य पर…

राहुल गांधी द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, अगर मौजूदा गति से कोराना टीकाकरण किया जाता है, तो दिसंबर 2021 के अंत तक केवल 42% आबादी ही वैक्सीन प्राप्त कर पाएगी। जबकि लक्ष्य था कि साल के अंत तक 60% आबादी का टीकाकरण किया जाए। टीकाकरण के लक्ष्य को हासिल करने के लिए इस साल के अंतिम सप्ताह में रोजाना 6.1 करोड़ खुराक देनी पड़ेगी। इसमें यह भी दर्शाया गया है कि पिछले एक सप्ताह के दौरान प्रतिदिन औसतन 58 लाख खुराकें दी गईं।

देश में कितनी वैक्सीन लगी?

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में मंगलवार शाम तक 138.96 करोड़ वैक्सीन डोज दी जा चुकी हैं। इसमें पिछले 24 घंटों में प्रशासित 57 लाख वैक्सीन खुराक भी शामिल हैं। देश में अब तक 82,97,50,222 पहली खुराक दी जा चुकी है। जबकि 55,91,79,111 दूसरी डोज लगाए गए हैं।

ओमिक्रॉन के 225 मामले हुए..

आपको बता दें कि देश में कोरोना के नए वैरिएंट ‘ओमिक्रॉन’ से अब तक कुल 225 लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, ओमिक्रॉन के सबसे ज्यादा 65 मरीज महाराष्ट्र में व 54 मरीज दिल्ली में मिले हैं। वहीं, अब तक 14 राज्यों में ओमिक्रॉन संक्रमण फैल चुका है।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।