राहुल गांधी का सवाल: किस-किस पर हुआ पेगासस का इस्तेमाल? किसको मिल रहा था डेटा? जवाब दे सरकार!

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
भारत Published On :


पेगासस मामले में सुप्रीम कोर्ट की बुधवार को सुनवाई के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। राहुल ने केंद्र सरकार से तीन सवाल पूछे हैं। उन्‍होंने इस मामले में सरकार की मंशा पर सवाल खड़े किए। साथ ही उन्होंने कहा कि ये हमारे देश के लोकतंत्र को नष्ट करने की कोशिश है। पेगासस के जरिए सेंट्रल एजेंसियों पर अटैक किया गया है।

हम जो कह रहे थे, कोर्ट ने उसका समर्थन किया…

राहुल ने कहा कि हमने पिछले संसद सत्र में भी यह मामला उठाया था। आज इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने भी टिप्पणी की है। हम जो कह रहे थे, कोर्ट ने उसका समर्थन किया, जिसके बाद हमें उम्मीद है कि सच्चाई जल्द ही सामने आएगी। राहुल ने कहा कि हम चाहेंगे इस पर संसद में बहस हो, इसलिए हम पेगासस के मुद्दे को फिर से उठाएंगे। देश पेगासस पर प्रधानमंत्री को सुनना चाहता है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा..

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने पेगासस जासूसी मामले की सुनवाई करते हुए एक अहम आदेश जारी किया है। इसमें अदालत ने निर्देश दिया कि पेगासस जासूसी मामले की जांच विशेषज्ञ समिति द्वारा की जाएगी और समिति 8 सप्ताह में अपनी रिपोर्ट देगी। राहुल ने कहा संसद में हमने तीन सवाल उठाए थे।

  1. किसने पेगासस को अधिकृत किया ? किस एजेंसी, किस व्यक्ति ने पेगासस को अधिकृत किया?
  2. पेगासस के शिकार कौन हैं, इसका इस्तेमाल किसके खिलाफ किया गया है?
  3. क्या किसी अन्य देश के पास हमारे लोगों की जानकारी है?

किसको मिल रहा था डाटा?

राहुल ने कहा क्या इसका डाटा प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को मिल रहा था? एक सूची आई थी जिसमें चीफ जस्टिस, पूर्व प्रधानमंत्रियों, मुख्यमंत्रियों, भाजपा नेताओं व कई विपक्षी नेताओं के नाम थे। यदि चुनाव आयोग सहित तमाम एजेंसियों और विपक्षी नेताओं के फोन टैपिंग का डेटा पीएम के पास जा रहा है तो ये अवैधानिक है। इस मुद्दे पर विपक्ष मिलकर एक साथ खड़ा हुआ, लेकिन हमें जवाब नहीं मिला। हमने तब भी कहा था कि यह हमारे देश व लोकतंत्र पर आक्रमण है।

सरकार को इन सवालों का जवाब देना चाहिए..

राहुल ने कहा कि सरकार ने जरूर कुछ गलत किया है, नहीं तो सरकार को इन सवालों का जवाब देना चाहिए। अगर आप जवाब नहीं दे रहे हैं तो इसका मतलब है कि कुछ छुपाया जा रहा है। राहुल गांधी ने कहा कि अगर आतंकवाद के खिलाफ पेगासस का इस्तेमाल किया जाता है तो यह दूसरी बात है, लेकिन अगर प्रधानमंत्री व्यक्तिगत रूप से इसका इस्तेमाल कर रहे हैं तो यह अपराध है। हमें खुशी है कि सुप्रीम कोर्ट ने पेगासस मामले का संज्ञान लिया है। राहुल ने कहा, हमारी कोशिश होगी कि इस पर संसद में बहस हो। हम जानते हैं कि बीजेपी इस पर बहस करना पसंद नहीं करेगी।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।