Home ख़बर राफेल सौदा: SC में पुनर्विचार याचिकाएं खारिज, राहुल पर मानहानि का केस...

राफेल सौदा: SC में पुनर्विचार याचिकाएं खारिज, राहुल पर मानहानि का केस खत्म

SHARE

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई वाली बेंच ने राफेल मामले में दायर की गईं सभी पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज कर दिया है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एसके कौल और जस्टिस केएम जोसेफ की बेंच द्वारा 14 दिसंबर 2018 को सुनाए गए फैसले को बरकरार रखा है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हमें नहीं लगता कि राफेल विमान सौदा मामले में प्राथमिकी दर्ज करने या बेवजह जांच का आदेश देने की जरूरत है। वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण, यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी समेत अन्य ने कोर्ट से राफेल डील में भ्रष्टाचार के जांच की मांग की थी।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है।

साथ ही उच्चतम न्यायालय ने गुरुवार को पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ दर्ज मानहानि मामले में फैसला सुनाते हुए उनकी माफी को स्वीकार कर लिया है। अदालत ने राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना की प्रक्रिया को बंद कर दिया है।

Rahul-gandhi-contempt-plea-order

बेंच ने कहा कि हम उनकी माफी स्वीकार करते हैं। उन्हें आगे सावधानी बरतने की जरूरत है।

पूर्व की सुनवाई में अदालत ने राहुल गांधी की इस टिप्पणी को गलत ठहराया था। राहुल गांधी ने इस बयान को लेकर अदालत से इसे ‘गैर-इरादतन, गैर-इरादतन और अनजाने में दिया गया’ बताते हुए माफी भी मांगी थी। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस के एम जोसेफ की पीठ ने राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना कार्यवाही के लिए लंबित इस मामले पर 10 मई को सुनवाई पूरी कर ली थी।

भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने राहुल के खिलाफ अवमानना का मामला दर्ज कराया था। राहुल ने जवाब में कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में ‘चौकीदार चोर है’ टिप्पणी नहीं की थी। यह सब चुनाव प्रचार के दौरान गर्म माहौल में उनके मुंह से निकल गया था।

कोर्ट का फैसला आने के बाद केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा। केंद्रीय मंत्री ईरानी ने ट्वीट कर कोर्ट के फैसले का हवाला देते हुए लिखा है, ‘सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने एक बार फिर राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी व सरकार के दृढ़ संकल्प की पुष्टि की है। उम्मीद है कि कांग्रेस पार्टी और उसके पूर्व अध्यक्ष झूठ फैलाना बंद करेंगे एवं राष्ट्र निर्माण और देश की सुरक्षा के प्रति सकारात्मक योगदान देंगे।

फैसले के बाद कांग्रेस प्रवक्ता संजय झा ने इस मसले पर ट्वीट किया है और अनिल अंबानी से माफी मांगी है। संजय झा ने अनिल अंबानी के खिलाफ टीवी डिबेट में बयान देने पर माफी मांगी।

संजय झा ने ट्वीट कर लिखा, ‘अब जब सुप्रीम कोर्ट ने राफेल सौदे पर फैसला दे दिया है, तो मैं टीवी शो के दौरान लगाए गए आरोपों के लिए सार्वजनिक तौर पर माननीय श्री अनिल अंबानी जी से माफी मांगना चाहूंगा। सर जी, आप सत्यनिष्ठा, पारदर्शिता और ईमानदारी के अवतार हैं। सर जी, प्लीज़ माफ करें।’

राफेल सौदे पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला यहां पढ़ें:

Rafale-review-judgment

1 COMMENT

  1. संजय झा जी । माफी ऐसे नहीं मांगी जाती। माफी ऐसे मांग सकते हैं। द पॉलिएस्टर प्रिंस ऑफ इंडिया ( एक किताब भी है )धीरूभाई अंबानी यानि ईमानदारी के अवतार धीरूभाई के सुपुत्र अनिल अंबानी जी माफ करें ।
    वैसे बकौल भगत सिंह के गुरु लेनिन –मेहनत की लूट करने वाले सभी पूंजीपति बेईमानी की पराकाष्ठा हैं ।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.