प्रियंका का मिशन यूपी तेज़, ‘जंगल राज’ के ख़िलाफ़ अभियान चलाएगी काँग्रेस

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


उत्तर प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर कांग्रेस महासचिव और यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी ने आज यूपी कांग्रेस के प्लानिंग और रणनीति ग्रुप के नेताओं के साथ बैठक की। बैठक में यूपी में बढ़ते अपराध और जंगलराज पर गंभीर चर्चा हुई। बैठक में तय हुआ कि राज्य की बिगड़ती कानून व्यवस्था और जंगलराज के खिलाफ कांग्रेस अभियान चलाएगी और बीजेपी सरकार में पनप रहे राजनेता-अपराधी गठजोड़ का भंडाफोड़ करेगी।

इस अभियान के तहत पार्टी अपराधियों और उनको संरक्षण देने वाले सत्ताधारी नेताओं को बेनकाब करेगी। कांग्रेस का कहना है कि उत्तर प्रदेश में अपराधियों को सत्ता का खुला संरक्षण मिला हुआ है। बैठक में फैसला लिया गया कि कांग्रेस बढ़ते अपराध और जंगलराज के खिलाफ हर जिले में प्रेस कांफ्रेंस करेगी। साथ ही पार्टी यूपी में ऑनलाइन कैंपेन चलाएगी, जिसके तहत रविवार को कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता जंगलराज के खिलाफ फेसबुक लाइव करेंगे।

बैठक में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जंगलराज है, पुलिस भी सुरक्षित नहीं है। प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। प्रियंका गांधी ने कहा कि सत्ता सरंक्षण ने अपराधियों का मनोबल बढ़ाया है। अपराधियों, सत्ताधारी नेताओं और अधिकारियों का गठजोड़ बन गया है।

बैठक में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लु, आराधना मिश्रा मोना, राजीव शुक्ला, जितिन प्रसाद, बृजलाल खाबरी, प्रदीप जैन आदित्य, आर के चौधरी, इमरान मसूद, राजाराम पाल, दीपक सिंह, और प्रभारी राष्ट्रीय सचिव बैठक में मौजूद है।

कांग्रेस की प्रदेशवासियों से अपील  बढ़ते अपराध के खिलाफ अपना संदेश ऑनलाइन फेसबुक, ट्विटर, इंस्टा के जरिए पोस्ट करें। साथ के साथ जमीनी तौर पर लोगों से गुहार कि अगर उनको कोई भी दिक्कत है अपराधिक समस्याओं को लेकर तो वह चिट्ठी लिखकर जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ताओं को एवं अन्य कांग्रेस नेताओं को दें। इन सभी चिट्ठियों शिकायतों को इकट्ठा करके कांग्रेस पार्टी उत्तर प्रदेश की राज्यपाल एवं एनएचआरसी को देगी।

प्रियंका गांधी की इस बैठक में आगामी पंचायत चुनाव की रणनीति पर भी गंभीर चर्चा हुई।


 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।