यूपी में 1000% बढ़े कोरोना मरीज़, योगी आँकड़ों की बाजीगर में व्यस्त- प्रियंका

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका गांधी ने कहा कि यूपी कोरोना के मामले तेजी से बढ़ गए हैं, कई जिलों में कोरोना के मामले 200 फीसदी से लेकर 1000 फीसदी तक बढ़े हैं, लेकिन सरकार आंकड़ों की बाजीगरी करने में व्यस्त है। सरकार के पास इसका कोई जवाब नहीं है।

प्रियंका गांधी ने यूपी में कोरोना से जुड़े आंकड़ों का ग्राफ शेयर करते हुए ट्वीट किया कि “लगभग 3 महीने के लॉकडाउन, यूपी सरकार के तमाम दावों के बावजूद यूपी के 25 जिलों में जुलाई महीने में कोरोना के मामलों में तेजी से वृद्धि हुई है।

यूपी के 3 जिलों में 200%, 3 में 400% और 1 जिले में 1000% से ऊपर की आई है”।

उन्होंने आगे कहा कि “खबरों के अनुसार प्रयागराज में 70 फीसदी संक्रमित लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के 48 घंटे के भीतर ही मृत्यु हो गई।

हमें इसी बात का डर था इसलिए शुरू में ही हमने उप्र के मुख्यमंत्री जी को पत्र लिखकर इस संदर्भ में सकारात्मक सुझाव देते हुए अधिकतम टेस्टिंग की बात उठाई थी”।

प्रियंका गांधी ने कहा कि “आज ये विकराल रूप टेस्टिंग पर ध्यान न देने, रिपोर्ट में देरी होने, आंकड़ों की बाजीगरी करने व कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग पर ध्यान नहीं देने की वजह से हुआ है। यूपी सरकार के पास इसका कोई जवाब नहीं है”।

इसके पहले भी प्रियंका गांधी ने कोरोना के बढ़ते मामलों और अस्पतालों की बदहाली को लेकर चिंता जताई थी। प्रियंका गांधी ने कहा था “लखनऊ में बैठकर ही यूपी सरकार कोरोना से लड़ने के बड़े-बड़े दावे करती है लेकिन वहीं से दो किलोमीटर उनके दावों की पोल खुल रही है।

यूपी में कोरोना की संख्या लगातार बढ़ रही है। ऐसे में सरकार को झूठे दावों की बजाय सुदृढ़ व पारदर्शी नीतियों से काम लेना होगा”।

प्रियंका गांधी ने गुरुवार को भी कहा था कि “यूपी में आज कोरोना के 2083 संक्रमित लोग मिले और बीते 24 घंटे में 34 लोगों की मृत्यु हो गई। एक तरफ कोरोना की रफ्तार विकराल रूप ले रही और दूसरी तरफ पूरे यूपी से आ रही खबरों के अनुसार बदइंतज़ामी चरम पर है। इस लचर व्यवस्था के साथ विकराल रूप लेती महामारी का सामना कैसे होगा”?


 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।