प्रियंका गांधी का भाजपा पर वार, कहा – मोदी जी के राज में ऐसा कुछ भी बचा नहीं, जिसको महंगा किया नहीं….

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी लगातार महंगाई के मुद्दे को लेकर बीजेपी सरकार पर आक्रामक रहती हैं। उन्होंने एक बार फिर महंगाई के मुद्दे को उठाते हुए बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है। इस बार प्रियंका ने महंगाई का एक ग्राफ बनाकर उसमें कुछ आंकड़े दर्शाए हैं और उसके साथ एक कविता के जरिए मोदी सरकार पर तंज कसा है उन्होंने जो ग्राफ दिखाया है उसमे कपड़ों पर जीएसटी, जीवन बीमा, मोबाइल रिचार्ज और सब्जियों पर बढ़ोतरी को एक महंगाई के कुचक्र के रूप में प्रस्तुत किया गया है।

भाजपा राज में महंगाई का कुचक्र के साथ जो आंकड़े दिखाए गए वह इस प्रकार हैं...

  • कपड़ों पर जीएसटी में 12% की बढ़ोतरी हुई है।
  •  जीवन बीमा 20 से 40% तक महंगा हुआ है।
  • मोबाइल रिचार्ज 20 से 25% तक महंगे हुए हैं।
  •  सब्जियां 25% तक महंगी हुई है।

इन आंकड़ों को ट्वीट करते हुए प्रियंका ने एक कविता भी लिखी है, जिसमें उन्होंने मोदी सरकार पर हमला करते हुए बताया है कि जो महंगाई की मार का नारा लगाते थे उनके राज में महंगाई आसमान छू रही है। प्रियंका ने लिखा, “मोदी जी के राज में ऐसा कुछ भी बचा नहीं, जिसको महंगा किया नहीं आटा महंगा, मोबाइल का डाटा महंगा, जीवन बीमा महंगा, जीवन जीना महंगा, कपड़े महंगे, जूते महंगे, महंगी सब्जी-दाल “बहुत हुई महंगाई की मार” का नारा देने वाले अब हर रोज जनता पर महंगाई का प्रहार कर रहे हैं।”

कल अजय कुमार लल्लू करेंगे प्रेस कॉन्फ्रेंस..

यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर प्रियंका गांधी एक्टिव है वह बीजेपी सरकार पर लगातार महंगाई के मुद्दे, यूपी में हो रहे अपराध और अन्य मामलों को लेकर बीजेपी को घेरती रहती हैं। प्रियंका महोबा की धरती से यूपी रण की तैयारी शुरू कर रही हैं। वह 27 नवंबर को कानपुर-बुंदेलखंड क्षेत्र के कार्यकर्ताओं की रैली को संबोधित करेंगी। रैली की तैयारियां भी ज़ोरो पर हैं। वहीं, बुधवार 24 नवंबर को यूपी कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू जी प्रदेश कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में कुछ महत्वपूर्ण घोषणाएं होने की बात कहीं जा रही हैं। बता दें कि 27 नवंबर को होने वाली रैली की तैयारी के लिए रविवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू कानपुर पहुंचे थे। रैली को सफल बनाने के लिए उन्होंने दावेदारों के साथ बैठक भी की थी।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।