प्रियंका ने 48 घंटों में हुए महिला अपराध की लिस्ट जारी कर योगी से पूछा-‘मिशन शक्ति कितना सफल रहा?’

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


उत्तर प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ लगातार हो रही हिंसा को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर हमला बोला है। प्रियंका गांधी ने यूपी में पिछले 48 घंटों में हुए महिला अपराधों की लिस्ट जारी कर पूछा कि ‘मिशन शक्ति अभियान कितना सफल रहा है।

बता दें कि योगी सरकार ने कुछ हफ्ते पहले महिलाओं के खिलाफ अपराध पर अंकुश लगाने के लिए साथ ‘मिशन शक्ति अभियान की शुरुआत की है। लेकिन राज्य में महिलाओं के खिलाफ हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है।

कांग्रेस महासचिव व यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा कि- क्या यूपी के सीएम साहब ये बताने का कष्ट करेंगे कि उनका मिशन शक्ति कितना सफल रहा? क्योंकि यूपी से महिलाओं के खिलाफ अपराधों की खबरें तो कह रही हैं कि यूपी महिलाओं के लिए एकदम सुरक्षित नहीं है। कई जगहों पर तो लड़कियों ने जान दे दी क्योंकि उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई।

वहीं उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने प्रदेश की ध्वस्त हो चुकी कानून व्यवस्था पर योगी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि फतेहपुर में दो सगी बहनों की निर्ममतापूर्वक की गयी हत्या, कानपुर में दिल दहला देने वाली घटना के साथ ही मुख्यमंत्री के गृह जनपद गोरखपुर में मासूम के साथ दुष्कर्म की घटना, अयोध्या में दलित किशोरी से गैंगरेप, सोनभद्र जनपद के कोन थाना क्षेत्र में पत्रकार उदय पासवान की पीट-पीटकर हत्या ने यह साबित कर दिया है कि उ0प्र0 में कानून व्यवस्था नियंत्रित करना योगी सरकार के बस में नहीं है। योगी सरकार अपने दायित्वों एवं कर्तव्यों व नैतिकता से विमुख होकर सिर्फ पीआर व ब्राण्डिंग के बल पर प्रदेश की जनता को भ्रमित करने तक सीमित रह गयी है।

अजय कुमार लल्लू ने कहा कि योगी सरकार महिला सुरक्षा, बलात्कार, हत्या, अपराध को रोकने में पूरी तरह विफल है। कल भदोही में 6 वर्षीय बालिका की गला रेतकर अपराधियों द्वारा हत्या कर दी गयी। बस्ती, गोण्डा, बुलन्दशहर, शाहजहांपुर की घटना ने प्रदेश को झकझोर कर रख दिया है। फतेहपुर, कानपुर, गोरखपुर और अयोध्या सहित सोनभद्र की घटना ने एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि योगी सरकार के बस में कानून व्यवस्था नियंत्रित करना नहीं रह गया है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश में अपराधी पूरी तरह भयमुक्त होकर बेलगाम हो गये हैं बेटियों और महिलाओं की सुरक्षा ताक पर है मासूम बच्चियां किस तरह असहनीय दर्दनाक पीड़ा का दंश बर्दास्त करते हुए दरिंदगी का शिकार होकर आत्महत्या के लिये विवश है और बलात्कारी मासूम बेटियों की हत्या से भी परहेज नही कर रहे है। कानपुर और फतेहपुर में जिस तरह की घटना हुई है उसने मानवता को भी शर्मसार कर दिया है।

अजय कुमार लल्लू ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला करते हुए कहा कि जिस प्रकार अपराधी हत्या, बलात्कार जैसी जघन्य घटनाओं को जब चाहते हैं जहां चाहते हैं अंजाम दे रहे हैं और सरकार व पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी रहती है इससे यह साबित होता है कि सरकार का इकबाल खत्म हो चुका है और अपराधी प्रदेश में समानान्तर सरकार चला रहे हैं।

उन्होंने कहा कि शाहजहांपुर, गोण्डा और बस्ती, गोरखपुर, कानपुर, फतेहपुर की बलात्कार और हत्या की घटनाओं ने आम जनमानस का दिल दहला कर रख दिया है। एनसीआरबी के आंकड़े छिपाकर और आकड़ों की बाजीगरी करके सरकार अपनी वाहवाही लूटने में जुटी है और आम जनता में हाहाकार मचा हुआ है। बच्चियों की हत्या, बलात्कार और अपहरण के बाद पुलिस तब तक मुकदमा नहीं दर्ज करती है जब तक किसी का शव नहीं मिलता। सोनभद्र जनपद में पत्रकार उदय पासवान की पीट-पीटकर हत्या ने साबित कर दिया है कि भाजपा राज में कोई भी सुरक्षित नहीं रह गया है।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री अपराधियों पर कठोर कार्यवाही और कानून व्यवस्था को नियंत्रित करने के बजाए सिर्फ बैठकें और चेतावनी देने तक ही सीमित रह गये हैं। सच्चाई तो यह है कि भाजपा राज में प्रदेश में बेटियां कहीं भी सुरक्षित नहीं हैं। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, मिशन महिला शक्ति जैसे केवल कोरे नारों तक ही योगी आदित्यनाथ की सरकार सिमट कर रह गयी है।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।