Home ख़बर संजली के इंसाफ़ के लिए आज शहर-शहर जलेगी कंदील, भीम आर्मी ने...

संजली के इंसाफ़ के लिए आज शहर-शहर जलेगी कंदील, भीम आर्मी ने योगी को चेताया

SHARE

आगरा में ज़िंदा फूंक दी गई नाबालिग दलित लड़की संजली को इंसाफ़ दिलाने की मांग को लेकर आज देश भर में धरना प्रदर्शन होगा। उधर भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ने चेताया है कि अगर अगल दो दिनों के अंदर दोषियों को गिरफ्तार नहीं किया गया तो योगी सरकार के खिलाफ सड़कों पर आंदोलन शुरू हो जाएगा। उन्होंने संजली के परिवार को एक करोड़ रुपये और किसी एक परिजन को सरकारी नौकरी देने की भी मांग की है।

संजली की उम्र महज 15 सील थी। बीते मंगलवार को आगरा शहर से से 20 किलोमीटर दूर ललाउ गांव के पास दो युवकों ने नाबालिग संजली के ऊपर पेट्रोल छिड़कर उसे आग के हवाले कर दिया था। वह 75 फीसदी तक झुलस गई थी। गंभीर हालत में उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन 36 घंटे तक मौत से झूझने के बाद उसने दम तोड़ दिया। घटना के बाद दोनों आरोपी फरार हैं जिनकी पुलिस तलाश कर रही है। संजली की हालत से दुखी उसके चचेरे भाई ने खुदकुशी कर ली।

इस दर्दनाक और वहशी घटनाक्रम ने न सिर्फ दलितों को बल्कि हर इंसाफ़-पसंद इंसान को हिला दिया है। सोशल मीडिया पर संजली को इंसाफ़ दिलाने की मुहिम शुरू हो गई है। इस बीच भीम आर्मी ने इसे बड़ा मुद्दा बना लिया है। भीम आर्मी के नेता चंद्रशेखर आजाद ने संजली के दोषियों को सजा मिलने तक चैन से न बैठने का ऐलान किया है। चंद्रशेख आजाद ने कहा है कि यह राजनीतिक मुद्दा नहीं है। न वे इस मुद्दे पर किसी पार्टी की परवाह करेंगे। महिलाओं के सम्मान के और इंसाफ के इस मामले को वह अंतिम परिणति तक पहुँचाएंगे। उन्होंने इस मुद्दे पर फेसबुक लाइव भी किया और योगी सरकार को कड़ी चेतावनी दी।

सोशल मीडिया में शुरु हुए जस्टिस फार संजली का व्यापक असर देखा गया है। 22 दिसंबर यानी आज शहर-शहर संजली को न्याय मांगने के लिए सड़क पर उतरने का स्वत:स्फूर्त अभियान शुरू हो गया है। कहा जा रहा है कि जो जिस शहर,कस्बे या गांव में है, वह वहीं संजली के लिए मोमबत्ती जलाए, उसे श्रद्धांजलि दे और दोषियों को तुरंत पकड़ने के लिए योगी सरकार पर दबाव डाले।

कथित मुख्यधारा मीडिया के लिए यह मुद्दा बहुत बड़ा नहीं है, लेकिन नेट और स्मार्टफोन से जुड़े आम लोग जिस तरह इसे बड़ा मुद्दा बना रहे हैं, उससे उनके लिए ज्यादा देर तक आंख मूंदे रहना संभव नहीं होगा।  

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.