कोविड नियंत्रण में मोदी सरकार नाकाम, मदद में जुटें कांग्रेस जन- सोनिया गाँधी

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


कोविड-19 की ताज़ा जानलेवा क़हर से आम लोगों को बचाने के लिए कांग्रेस ने प्रदेश कमेटियों को कंट्रोल रूम बनाने का निर्देश दिया है। आज कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गाँधी की अध्यक्षता में कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक हुई जिसमें मोदी सरकार को बुरी तरह नाकाम बताते हुए पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को जनता की मदद में जुट जाने का आह्वान किया गया।

कार्यसमिति को संबोधित करते हुए सोनिया गाँधी ने कहा कि लगभग 6.5 करोड़ कोविड-19 वैक्सीन का निर्यात दूसरे देशों में किया गया है। हमारे अपने देश में दुनिया में सबसे अधिक संक्रमण दर को ध्यान में रखते हुए, क्या वैक्सीन के निर्यात को रोककर नागरिकों की सुरक्षा को प्राथमिकता नहीं दी जानी चाहिए?  उन्होंने कहा कि विपक्ष के रचनात्मक सुझावों को सुनने के बजाय, केंद्रीय मंत्री उन सुझावों को देने के लिए विपक्ष के नेताओं पर हमला करते हैं। यह “मैं बनाम तुम” वाली बहस बचकानी और पूरी तरह अनावश्यक है।

सोनिया गाँधी ने कहा कि कांग्रेस के मुख्यमंत्रियों ने प्रधानमंत्री से बात की और समय-समय पर संबंधित मंत्री से राहत के लिए अनुरोध किया है। उनमें से कुछ के पास केवल कुछ दिनों की वैक्सीन है, कोई ऑक्सीजन या वेंटिलेटर नहीं है। इस बात पर सरकार की ओर से भयंकर चुप्पी साध ली गयी।

इस मौके पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। चिदंबरम ने कहा कि सरकार के पास कोरोना से निपटने के लिए ना तो कोई रणनीति है और नहीं प्लानिंग। बैठक में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी, महासचिव प्रियंका गाँधी सहित तमाम वरिष्ठ नेता शामिल हुए।

गौरतलब है कि कांग्रेस शासित राज्यों की ओर से कई बार कोरोना वैक्सीन की कमी को लेकर सवाल उठाए गये हैं। कांग्रेस शासित राज्य पंजाब, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्रियों ने केंद्र पर पर्याप्त मात्रा में टीका मुहैया नहीं कराने का आरोप लगाया था। इस बाबत कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी पीएम मोदी को पत्र लिखकर कोरोना टीका उपलब्ध कराने की मांग की थी।

 

 

 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।