मणिशंकर अय्यर ने अब लिखकर मोदी को ‘नीच किस्‍म का आदमी’ वाली टिप्‍पणी को सही ठहराया

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


सैम पित्रोदा के ‘हुआ तो हुआ’ के बाद मणिशंकर अय्यर का दूसरा ‘नीच’ विमर्श सामने आया है. नरेंद्र मोदी को पहले ‘नीच’ कह कर विवाद खड़ा करने वाले कांग्रेस के इस वरिष्‍ठ नेता ने चुनाव खत्‍म होते-होते अपनी जुबान खोल दी. मंगलवार को अय्यर ने कहा कि 2017 में उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के लिए जो ‘नीच किस्म का आदमी’ कहा था वह आज भी उस पर कायम हैं.

दरअसल, अय्यर ने 2017 में पीएम नरेंद्र मोदी के बारे में दिए गए अपने विवादित बयान ‘नीच किस्म का आदमी’ को सही ठहराते हुए एक लेख लिखा है. इस लेख में अय्यर ने कहा है कि वह अपने एक-एक शब्द पर आज भी कायम हैं.

गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान अय्यर के दिए इस बयान पर काफी बवाल मचा था और बाद में कांग्रेस नेता को माफी मांगनी पड़ी थी. इस बयान के बाद अय्यर को पार्टी से निष्कासित भी किया गया था किन्तु 8 महीने बाद उस निष्कासन को ख़त्म कर उन्हें फिर पार्टी में शामिल कर लिया गया था .
किन्तु मणिशंकर अय्यर ने हाल ही में लिखे अपने एक लेख में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाल की रैलियों के बयानों का हवाला देते हुए कहा है, ‘याद है 2017 में मैंने मोदी को क्‍या कहा था? क्‍या मैंने सही भविष्‍यवाणी नहीं की थी?’

अपने इस लेख में उन्‍होंने मोदी के रैलियों और इंटरव्‍यू में दिए गए बयानों का जिक्र किया है. मोदी की शैक्षिक पृष्‍ठभूमि का जिक्र करते हुए अय्यर ने भगवान गणेश की ‘प्‍लास्टिक सर्जरी’ और उड़नखटोलों को प्राचीन विमान बताने वाले उनके बयानों को ‘अज्ञानता भरे दावे’ कहा। इसके अलावा अय्यर ने उस इंटरव्‍यू का जिक्र भी किया जिसमें मोदी ने बालाकोट हमले के समय बादलों की आड़ का फायदा लेने की बात कही थी.

 

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने ट्वीट कर लिखा है -‘2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की ‘प्यार की राजनीति’ में गांधी परिवार के और एक ‘मणि’ ने मोदी जी पर दिए गए अपने पूर्व के ‘नीच बयान’ को सही ठहराते हुए कुछ और योगदान किया है.’


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।