Home ख़बर “मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं, राहुल गांधी है, माफ़ी नहीं मांगूंगा”!

“मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं, राहुल गांधी है, माफ़ी नहीं मांगूंगा”!

SHARE

शनिवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित कांग्रेस की भारत बचाओ रैली में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा. अर्थव्यवस्था, बेरोजगारी, कानून व्यवस्था सहित तमाम मुद्दों को लेकर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आड़े हाथ लिया.

राहुल गांधी ने कहा कि मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं, राहुल गांधी है. उन्होंने अपने रेप इन इंडिया वाले बयान पर कहा कि सच्चाई के लिए कभी माफी नहीं मांगूंगा. मैं मर जाऊंगा लेकिन माफी नहीं मांगूगा.

उन्होंने कहा- मोदी को देश से माफी मांगनी है. अमित शाह को देश से माफी मांगनी है. क्यों मांगनी है यह बताने आया हूं. इस देश की आत्मा, इस देश की शक्ति इसकी अर्थव्यवस्था थी. पूरी दुनिया देखती थी कि इंडिया में क्या हो रहा है.

हमारी शक्ति अर्थव्यवस्था थी. लोग दुनिया का भविष्य चीन और भारत को बोलते थे. उन्होंने आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी ने भारत की अर्थव्यवस्था खुद नष्ट कर दी.

उन्होंने कहा, ‘हिंदुस्तान के सभी दुश्मन चाहते थे कि भारत की अर्थव्यवस्था नष्ट हो जाए. यह काम हमारे प्रधानमंत्री ने कर दिया.’ उन्होंने आरोप लगाया कि नोटबन्दी करके लाखों करोड़ रुपये कुछ उद्योगपतियों को दे दिए.

राहुल गांधी ने रैली के मंच से कहा, “इस देश का सबसे ज्यादा नुकसान किसी और ने नहीं बल्कि प्रधानमंत्री ने किया. पिछले पांच साल में नरेंद्र मोदी ने अडानी को 50 कॉन्ट्रैक्ट दिए हैं. देश के एयरपोर्ट पकड़ा दिए. ये कॉन्ट्रैक्ट क्यों दिए. 1 लाख 40 हजार करोड़ रुपए, 15-20 लोगों का कर्ज माफ किया है.”

राहुल गांधी ने कहा, ”ये लोग आपकी कॉल का रेट बढ़ा देंगे और कारोबारियों का कर्ज माफ कर देंगे. जब तक देश की जनता के पास पैसे नहीं होंगे, तब तक देश की अर्थव्यवस्था आगे नहीं जा सकती. नरेंद्र मोदी ने आपकी जेब से पैसा निकाल लिया. आपने देश को मजबूत करने के लिए नरेंद्र मोदी को चुना लेकिन ऐसा नहीं हुआ. आज देश में किसान आत्महत्या कर रहे हैं. मैंने संसद में पूछा कितने किसानों ने आत्महत्या की लेकिन उनके नेता जवाब देते हैं कि हमें नहीं मालूम. ये लोग देश को बांटने का काम करते हैं. देश को तोड़ने का काम करते हैं.”

भाषण की शुरुआत करते राहुल गांधी ने कहा कि इतने छोटे मैदान में इतने सारे बब्बर शेर और शेरनियां कैसे खड़े कर दिए. यह हमारा कांग्रेस का कार्यकर्ता किसी से नहीं डरता. एक इंच पीछे नहीं हटता. देश के लिए अपनी जान देने से नहीं डरता.

सावरकर का नाम लेने पर बीजेपी और एनसीपी ने राहुल गाँधी पर पलटवार किया है.

भारत बचाओ रैली को प्रियंका गांधी, सोनिया गाँधी, मनमोहन सिंह के अलावा कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों और प्रदेश के अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया.

सोनिया गाँधी ने कहा – मोदी-शाह को इस बात की कोई परवाह नहीं है कि CAB भारत की आत्मा को तार-तार कर देगा। जैसा कि पूर्वोत्तर भारत में हो रहा है.

सोनिया गाँधी ने कहा- कालेधन के लिए नोटबंदी की, वो किसके पास है? आधी रात को GST लागू की, उसके बाद मोदी सरकार का खजाना खाली क्यों हो गया? RBI से लाखों करोड़ रुपए क्यों लिए गए? नवरत्न कम्पनियां क्यों बेची जा रही है? इन सबकी जांच होनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि जिस तरह की बर्बरता मेरी बहनों के साथ होती है, उसे देखकर मेरा दिल टूट सा रहा है. हमारा सिर शर्म से झुक जाता है. अपनी माताओं-बहनों-बच्चियों की इस हालत के खिलाफ हमें संघर्ष करना ही होगा.

छोटे-बड़े कारोबारियों ने बैंकों से कर्ज लेकर काम-धंधा शुरू किया था, वो मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण तबाह हो गए हैं. कर्ज न चुका पाने के कारण पूरे परिवार के साथ आत्महत्या की खबरें आती है. हमें उनके लिए संघर्ष करना है. उन्होंने कहा -मेरे किसान भाइयों को खेतों के लिए सही समय पर बीज नहीं मिलता; आसानी से खाद नहीं मिलता; पानी-बिजली की सुविधा नहीं मिलती; फसल का उचित दाम नहीं मिलता. हमें उनके लिए संघर्ष करना होगा

भूपेश बघेल ने कहा ये केवल जलाना जानते हैं. ये केवल काटना और बांटना जानते हैं. ये देश में आग लगाना चाहते हैं. हम कांग्रेस के लोग देश के लिए जान देना जानते हैं.

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा राहुल गांधी जी ने मुद्दों पर आधारित चुनाव अभियान चलाया था. किसानों, नौजवानों, मजदूरों, उद्योग, राफेल जैसे राष्ट्रहित के मुद्दे थे. ये मुद्दे आज भी देश मे जीवित है.

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा- मोदी जी राष्ट्रवाद की बात करते हैं. मैं इनको चुनौती देता हूँ कि ये अपने स्वतंत्रता सेनानियों के नाम बता दें. कांग्रेस का इतिहास बलिदानों का रहा है. ये कांग्रेस को राष्ट्रवाद का पाठ नहीं पढ़ा सकते.

किसने क्या कहा ?

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.