जज लोया, खंडालकर और थोम्बरे के बाद अब मेरी हत्या की बारी है: जस्टिस बीजी कोलसे पाटिल



बुधवार को दिल्‍ली में जस्टिस लोया और उनके साथियों की मौत पर हुई कांग्रेस की सनसनीखेज प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के बाद मामले में नया मोड़ आ गया है। सोहराबुद्दीन शेख फर्जी मुठभेड़ हत्‍याकांड की सुनवाई करने वाले जज बीएच लोया की संदिग्‍ध परिस्थितियों में मौत के बाद उनके दो राज़दारों एडवोकेट श्रीकांत खंडालकर और रिटायर्ड जज प्रकाश थोम्‍बरे को वकील प्रशांत भूषण से मिलने भेजने वाले बंबई हाइकोर्ट के जज बीजी कोलसे पाटील ने अब अपनी हत्‍या की आशंका जतायी है।

गौरतलब है कि बुधवार को कांग्रेस ने जज लोया के जानने वाले और एक रहस्‍यमय हादसे में बाल-बाल बचे एडवोकेश सतीश उइके के साथ मिलकर दिल्‍ली में प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर के बताया था कि कैसे लोया के बाद खंडालकर और थोम्‍बरे को की भी जान संदिग्‍ध तरीके से चली गई थी।

अब ताज़ा घटनाक्रम में अहमदनगर के एक साहित्‍य सम्‍मेलन में शामिल होने गए रिटायर्ड जज बीजी कोलसे पाटील ने कह डाला है कि लोया समेत खंडालकर और थोम्‍बरे की हत्‍या की गई है, यह कोई हादसा नहीं है और अब अगला नंबर उनका है। उन्‍होंने कहा कि यह उनका आखिरी भाषण हो सकता है।

छत्‍तीसगढ़ के बरखास्‍त दलित जज प्रभाकर ग्‍वाल ने इस मामले पर टिप्‍पणी की है जो गौरतलब है:

बी जी कोलसे पाटील लगातार जज लोया की मौत पर खुलकर बयान देते रहे हैं। यहां तक कि गोविंद पानसरे और दाभोलकर की हत्‍या पर भी उन्‍होंने लगातार लिखा और बोला है। अभी पिछले दिनों द वायर पर उनसे बातचीत पर आधारित एक लेख प्रकाशित हुआ था जिसमें उन्‍होंने कहा था कि ‘जज लोया के मामले में आरोप न्यायपालिका के लिए बहुत ही ख़तरनाक हैं. क़ानून और व्यवस्था के रखवाले ही अगर ये करते हैं तो हम कहां जाएंगे?’


तस्वीर साभार द वायर 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।