मर जाऊँगी, पर बीजेपी से कभी समझौता नहीं करूँगी-योगी के गढ़ में गरजीं प्रियंका गाँधी

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


यूपी विधानसभा 2022 में जीत हासिल करने के लिए प्रियंका जी-जान से जुटी हुई है। रविवार को प्रियंका गांधी वाड्रा सीएम योगी आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर पहुंचीं। यहां उन्होंने प्रतिज्ञा रैली को संबोधित किया जिसमें भारी भीड़ उमड़ी थी। उन्होंने समाजवादी पार्टी के मुखिया के बीजेपी और कांग्रेस के एक होने के बयान को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि मर जाऊँगी पर बीजेपी के साथ कोई समझौता नहीं करूँगी। उन्होंने पूछा कि आखिर योगी सरकार से सड़क पर उतरकर कांग्रेस के अलावा कौन सा विपक्षी दल लड़ता दिख रहा है।  आरएसएस से समझौता हीन संघर्ष का ऐलान करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्र सरकार को जमकर आड़े हाथों लिया।

दूरबीन हटाइये और चश्मा लगाइये: प्रियंका गांधी

प्रियंका ने लखीमपुर मामले पर अमितशाह को घेरते हुए कहा कि अमित शाह जी कहते हैं कि अब यूपी में अपराधियों को ढूंढना पड़ता है तो दूरबीन की जरूरत है। लेकिन उनके साथ मंच पर अजय मिश्रा टेनी बैठे थे। मैं उनसे कहना चाहती हूं कि दूरबीन हटाइये और चश्मा लगाइये। प्रियंका गांधी ने कहा कि कांग्रेस ने जो चीनी मिलें लगवाई थी, उनको सपा, बसपा और भाजपा सरकारों ने बंद करवाई हैं।

योगी आदित्यनाथ गरीबों के घर बुलडोजर चलाने लगे हैं..

मंच पर संबोधन के दौरान प्रियंका गांधी ने सीएम योगी पर भी हमला बोला उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ गुरु गोरखनाथ के विचारों के विपरीत सरकार चला रहे हैं। नाथ संप्रदाय में तो गरीब, वंचित को गले लगाने की परंपरा है, योगी जी आपको क्या हो गया कि आप गरीबों के घर बुलडोजर चलाने लगे हैं। प्रियंका ने सवालिया लहजे में पूछा आप योगी आदित्यनाथ हैं कि बुलडोजर नाथ? जहां लोग संघर्ष कर रहे हैं, जहां मदद की जरूरत है वहां सरकार कुछ नहीं करती। वहां से सरकार मुंह मोड़ लेती है। प्रियंका ने कहा, खाद, कृषि, फसल सब बड़े उद्योगपतियों के हाथ में आ गया है।

हाल में ही खाद की किल्लत से किसानों द्वारा कि गई आत्महत्या पर सरकार को निशाना बनाते हुए प्रियंका ने कहा, खाद के लिए लाइन में खड़े लोगों की मौत हो गई है। जब मैं मृतक किसानों के परिवार से मिला तो वहां कुछ नहीं था। न सरकारी मदद थी, न गैस सिलेंडर, जो था वह हैं उन किसानों का रोता परिवार। लखीमपुर में भी किसानों को कुचल दिया गया था।

सरकार ने दिखाया है कि उन्हें किसानों की बिल्कुल भी चिंता नहीं है। प्रियंका गांधी ने कहा, ‘जब पीएम मोदी 8000 करोड़ के विमान से इटली जाते हैं तो ऐसा लगता है कि शायद पीएम हमारे देश की शोभा बढ़ा रहे हैं। लेकिन जब मैं जाती हूं तो सच्चाई कुछ और ही दिखती है। मैं प्रयागराज के निषाद गांव गई थी। वहां पुलिस ने नाव जला दी थी। नाव निषादों की मां है। उन्होंने मुझे दिखाया कि उनकी नाव पुलिस द्वारा जला दी गई है।

बीजेपी ने 7 साल में 70 साल की मेहनत पर पानी फेरा: प्रियंका गांधी

प्रियंका ने बीजेपी को मोनिटाइजेशन पर भी घेरा उन्होंने कहा कि जिन लोगो की कोरोना में नौकरी खत्म हो गई, सरकार ने उनके लिए कोई कदम नहीं उठाया। उल्टा सरकारी संपत्तियां बेच डाली हैं। कांग्रेस ने रेल, एयरपोर्ट और सब कुछ बनाया, लेकिन बीजेपी ने 7 साल में 70 साल की मेहनत पर पानी फेर दिया है। बेरोज़गारी के कारण हर दिन तीन युवक आत्महत्या कर रहे हैं।

विपक्षियों पर प्रियंका का तंज..

प्रियंका ने कहा कि विपक्ष का कहना है कि कांग्रेस बीजेपी की टीम है। लेकिन मैं विपक्ष से कहना चाहता हूं कि मैं मर जाऊंगा, लेकिन बीजेपी से नहीं मिलूंगी। मैं आपके लिए लडूंगी, कांग्रेस आपके लिए लड़ेगी। जो लोग कहते हैं कि कांग्रेस कमजोर है, उन्हें इस भीड़ को देखना चाहिए, यह भीड़ कांग्रेस संगठन की है। इसमें कांग्रेस के वे कार्यकर्ता खड़े हैं, जो सालों से कांग्रेस का झंडा उठा रहे हैं। यह संगठन जनता के लिए है। हम आपकी समस्याओं को उठाएंगे।

प्रियंका ने गोरखपुर में जनता से दोहराए वादे..

  • गुरु महेन्द्रनाथ विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी।
  • गेहूं और धान 2500 रुपए प्रति क्विंटल की दर से खरीदा जाएगा।
  • 400 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से गन्ना होगा।
  • किसानों का पूरा कर्ज़ माफ कर देंगे।
  • अन्ना पशुओं की समस्या का समाधान करेंगे, जिससे पशु भी जीवित रहें, आपको भी लाभ होगा।
  • संविदा पर काम करने वाले परमानेंट करेंगे।
  • कांग्रेस 40 फीसदी महिलाओं को टिकट देगी।
  • 20 लाख सरकारी नौकरी देंगे।
  • 12वीं पास लड़कियों को मोबाइल और ग्रेजुएट पास लड़कियों को स्कूटी मिलेगी।
  •  लड़कियों और महिलाओं का होगा सफर फ्री
  • आंगनवाड़ी महिलाओं को कम से कम 10 हजार मानदेय मिलेगा।
  • सरकार एक साल में मुफ्त तीन सिलेंडर देगी।
  •  10 लाख तक मुफ्त इलाज सरकार देगी।
  • मछली पालन को दिया जाएगा कृषि का दर्जा, बालू खनन और मछली पालन में निषादों को अधिकार वापस दिए जाएंगे।पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी के शहादत दिवस और सरदार पटेल के जन्मदिन पर आयोजित इस रैली में उमड़ी भीड़ ने राजनीतिक पंडितों को हैरान कर दिया है। दरअसल, कांग्रेस ने बीते दो सालों में चुपचाप संगठन निर्माण पर जिस तरह से मेहनत की है, उसका असर साफ़ दिख रहा है। पार्टी नेताओं का दावा है कि बीते तीन दशकों में पहली बार न्याय पंचायत स्तर पर संगठन बनाया गया है और अब कोशिश कांग्रेस की ग्राम कमेटियाँ खड़ी करने की है। बनारस से ज़्यादा भीड़ गोरखपुर में आयी जो बताता है कि संगठन ने इसे सफल बनाने में पूरी ताकत लगायी।

मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।