पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन का निधन

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन का रविवार रात चेन्नई में निधन हो गया। शेषन का पूरा नाम तिरुनेलै नारायण अय्यर शेषन था। वे 87 साल के थे। शेषन 1990 से 1996 तक मुख्य चुनाव आयुक्त रहे थे।

चुनाव व्यवस्था में जब-जब सुधार की बातें होंगी शेषन हमेशा याद किए जाएंगे। वास्तव में वो शेषन ही थे जिन्होंने चुनाव आयोग की तस्वीर बदल दी थी।

शेषन के कार्यकाल में ही चुनावों में मतदाता पहचान पत्र का इस्तेमाल शुरू हुआ। शुरू में नेताओं ने इसका विरोध किया था और इसे बहुत खर्चीला बताया था। लेकिन शेषन नेताओं के आगे नहीं झुके और कई राज्यों में तो मतदाता पहचान पत्र तैयार नहीं होने की वजह से उन्होंने चुनाव तक स्थगित करवा दिए थे।

1990 के दशक के आरंभिक सालों में उनका नाम भर लेने से बाहुबली राजनेताओं के दिल में भय पैदा हो जाता था।

शेषन को अबतक का सबसे कड़क चुनाव आयुक्त माना जाता है। उनके कार्यकाल में चुनाव आयोग को सबसे ज्यादा शक्तियां मिली। चुनाव सुधार भी लागू हुए। मतदाताओं के लिए मतदान पत्र अनिवार्य हुए। आचार संहिता का सख्ती से पालन शुरू हुआ। कहा जाता है कि शेषन जब चुनाव आयुक्त थे उस वक्त वोट देने के लिए शराब बांटने की प्रथा एकदम खत्म हो गई थी। चुनाव के दौरान धार्मिक और जातीय हिंसा पर भी रोक लगी थी।

राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री सहित अनेक नेताओं ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी शेषन के निधन पर दुःख जताया है।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।