दलित महिला ने पकड़ा BJP नेता का गिरेबान, आरोप- नौकरी के नाम पर ली मोटी रिश्वत!

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


राजनीति और नेताओं पर भ्रष्टाचार के आरोप कोई खास और नई बात नई है। पर आरोप ऐसी पार्टी के नेताओं पर भीलगते हैं, जो गरीबों के विकास, भ्रष्टचार का खात्मा जैसी बातें करने के साथ-साथ दूसरी पार्टियों पर करप्शन, नेपोटिज्म और पॉलिसी पैरालिसिस जैसे गंभीर आरोप लगाती हैं। सत्ताधारी पार्टी BJP के नेता और त्रिवेदीगंज मंडल अध्यक्ष उत्तम वर्मा पर यूपी के बाराबंकी में दलित महिला ने रिश्वत लेने के गंभीर आरोप लगाए है।

BJP नेता ने गाली-गलौज करके भगा दिया..

बात कुछ यूं है की यूपी की एक दलित महिला ने बीजेपी नेता को रास्ते में रोककर सरेराह गिरेबान पकड़ लिया। जिसके बाद महिला ने उसके बेटे को नौकरी दिलाने के नाम पर लगभग एक साल पहले पौने दो लाख रुपये की रिश्वत लेने का आरोप लगाया। महिला का नाम प्यारी देवी है। अध्यक्ष उत्तम वर्मा पर उसका आरोप है कि इतने दिनो बाद भी जब उसके बेटे की नौकरी नहीं लगी तो वह पैसे मांगने गई तो बीजेपी नेता ने उसके साथ बदसलूकी की और गाली-गलौज करके भगा दिया।

घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल..

बता दें की इस घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। विडियो में महिला उत्तम वर्मा से पैसा वापस मांगी हुई नज़र आ रही है। महिला काफी क्रोधित भी है, जिससे वह बीजेपी नेता पर बरस रही है और बीजेपी नेता उसे पीछे धकेल कर बाइक लेकर वहां से निकल गए। फिलहाल, दोनो पक्ष ने ही लोनीकटरा थाने पहुंचकर एक-दूसरे के खिलाफ तहरीर दी है। हालांकि बीजेपी की तरफ से अभी तक अपनी पार्टी के ही एक पदाधिकारी के ऐसा करने पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। बीजेपी के नेता इस घटना को लेकर कुछ भी बोलने से बच रहे हैं।

अगर यह घटना किसी और पार्टी के नेता के साथ हुई होती तो क्या अब तक बीजेपी नेताओं की तरफ से उस दलित महिला के पक्ष में कोई सहानुभूति नज़र नही आती? मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, इस पूरे घटनाक्रम को लेकर थाना प्रभारी ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद सख्त कार्रवाई की जाएगी। लेकिन आपको बता दूं कि इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर कल से ही वायरल हैं अभी तक नेता के खिलाफ कोई सख्त एक्शन नहीं लिया गया।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।