पंजाब: इलाज के दौरान दलित युवक की मौत, खंभे से बांधकर कर की गई थी पिटाई

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


पंजाब के संगरूर जिले में 37 वर्षीय जिस दलित की खंभे से बांधकर कर पिटाई की गई थी और पेशाब पीने को मजबूर किया गया था, चंडीगढ़ में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई है। पुलिस अनुसार पीड़ित छांगलीवाला गांव का रहने वाला है।

पुलिस के मुताबिक चार लोगों के खिलाफ अवैध तरीके से बंधक बनाने और आईपीसी की विभिन्न धाराओं के साथ-साथ अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत लेहरा थाने में मामला दर्ज किया गया है।

चांगलीवाला गांव के दलित व्यक्ति का 21 अक्टूबर को रिंकू नामक व्यक्ति और उसके कुछ अन्य साथियों से विवाद हुआ था, लेकिन ग्रामीणों के हस्तक्षेप से मामला सुलझ गया था। पुलिस को बताया कि इसके बाद युवक को रिंकू ने 7 नवंबर को अपने घर बुलाया और चार लोगों ने उसे खंभे से बांधकर पीटा। जब उसने पानी मांगा, तो उसे पेशाब पीने के लिए मजबूर किया गया।

पंजाब अनुसूचित जाति आयोग ने भी संगरूर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मामले में रिपोर्ट देने को कहा है। आयोग की अध्यक्ष तेजिंदर कौर ने एक बयान में कहा कि मीडिया में आई खबरों से घटना की जानकारी मिली जिसके आधार पर स्व संज्ञान लेकर रिपोर्ट तलब की गई है।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।