गुजरात: ब्राह्मणवाद विरोधी पोस्ट को लेकर हुई दलित वकील की हत्या

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


गुजरात के कच्छ में दलित वकील और समाजिक कार्यकर्ता देवजी माहेश्वरी की हत्या के आरोप में मुंबई के मलाड वेस्ट में स्टेशनरी की दुकान पर काम करने वाले भरत रावल को गिरफ्तार किया गया है।  इस मामले में 5 लोग पहले ही गिरफ्तार किये जा चुके हैं।

दलित वकील की हत्या आरोपियों ने इसलिए कर दी क्योंकि उन्होंने ब्राह्मणवाद के विरोध में फेसबुक पोस्ट लिखी थी। इस हत्या के बाद गुजरात का दलित समाज काफी गुस्से में है। गुजरात के कच्छ जिले में बड़ी संख्या में लोग सड़कों पर उतर आए और हाईवे जाम कर प्रदर्शन किया।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक मृतक वकील देवजी माहेश्वरी अखिल भारतीय पिछड़ा और अल्पसंख्यक समुदाय कर्मचारी महासंघ (बीएएमसीईएफ) और इंडियन लीगल प्रोफेशनल्स एसोसिएशन से जुड़े थे।

इस मामले में मुंबई पुलिस का कहना है कि देवजी माहेश्वरी ने ब्राह्मणवाद को लेकर सोशल मीडिया पर आलोचनात्मक पोस्ट लिखी थी, जिसको लेकर उनके ही गांव रपार के रहने वाले ब्राह्मण समुदाय के भरत रावल की उनसे बहस हुई थी। रावल ने कई बार इस तरह की पोस्ट लिखने से बचने की चेतावनी दी थी।

पुलिस के मुताबिक  इस मुद्दे को लेकर माहेश्वरी और रावल की पिछले महीने कई बार बहस हुई थी। रावल ने एक बार माहेश्वरी के ऑफिस जाकर भी उसे धमकी दी थी, लेकिन माहेश्वरी ने उससे कहा था कि वह पीछे नहीं हटेंगे और उसे जो करना है, वह कर सकता है।

रिपोर्ट के मुताबिक पिछले महीने माहेश्वरी ने अपने फेसबुक पोस्ट पर बीएएमसीईएफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष वामन मेश्राम का एक वीडियो डाला था,  जिसमें वो कह रहे हैं कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के लोग हिंदू नहीं हैं।

मुंबई पुलिस का कहना है कि रावल, देवजी माहेश्वरी की हत्या करने के इरादे से बुधवार को मलाड से रपार पहुंचा। पुलिस के मुताबिक उनके हाथ एक सीसीटीवी फुटेज लगा है। जिसमें पता चलता है कि शुक्रवार शाम छह बजे महेश्वरी ने अपने ऑफिस की बिल्डिंग में प्रवेश किया था। इसके बाद लाल टी-शर्ट में उसके पीछे एक और शख्स दाखिल हुआ। बाद में बिल्डिंग में उनकी लाश मिली। पुलिस के मुताबिक हत्या करने वाला जो शख्स बिल्डिंग में गया था वो रावल ही था। जिसे मुंबई से गिरफ्तार कर लिया गया है।

रावल पर हत्या, आपराधिक साजिश और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया। गुजरात पुलिस की एक टीम रावल को हिरासत में लेने के लिए शनिवार देर रात मुंबई पहुंची थी।

क्राइम ब्रांच अधिकारी का कहना है कि सीसीटीवी फुटेज में दिखाई दे रहा शख्स रावल अकेला था। हालांकि, गुजरात पुलिस ने रावल सहित नौ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। रावल के अलावा एफआईआर में दर्ज अन्य नामजदों में जयसुख लुहार, खिमजी लुहार, धवल लुहार, देवुभा सोढा, विजयसिंह सोढ़ा, मयूरसिंह सोढ़ा, प्रवीणसिंह सोढ़ा और अर्जनसिंह सोढ़ा हैं।


 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।