COVID-19: एमनेस्टी इंटरनेशनल ने की कश्मीर में इंटरनेट बहाली की मांग

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :

फाइल फोटो


इस वक्त जब पूरी दुनिया में कोरोना यानि कोविड-19 नामक जानलेवा महामारी से लड़ने में लगी हुई है, ऐसे में मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल ने इस महामारी से लड़ने के लिए कश्मीर में इंटरनेट की पूर्ण बहाली की मांग की है. एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया ने  कश्मीर में 4G सर्विस को बहाल करने की मांग करते हुए कहा, कोरोनवायरस (COVID-19) महामारी के मद्देनजर, केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर की सरकार को जम्मू-कश्मीर के क्षेत्र में इंटरनेट सेवाओं की पूर्ण पहुंच बहाल करनी चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि लोगों की स्वास्थ्य और सुरक्षा तक पूरी पहुंच हो.

एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया ने एक बयान में कहा, “19 मार्च 2020तक कोरोनोवायरस के 219,217 मामलों के साथ , 8,965 लोगों की मौत हुई. वहीं 85,742 लोग रिकवर हुए है. दुनिया में हमारी पीढ़ी के लिए अब तक का सबसे बड़ा महामारी खतरा है.”

एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया ने कहा, 166 पुष्टि मामलों की सूचना दी है. इनमें से चार मामलों की पुष्टि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में सरकार ने की है. मामलों की बढ़ती संख्या के बावजूद, 17 मार्च 2020 को, केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर की सरकार ने इस क्षेत्र में 2G की गति को प्रतिबंधित करने जैसी पूर्ण इंटरनेट सेवाओं पर निरंतर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया. सुरक्षा की आड़ में कुछ क्षेत्रों में रुक-रुक कर पूरा इंटरनेट बंद भी किया गया है. वायरस के प्रसार को रोकने के लिए, सरकार ने सभी शैक्षिक संस्थानों, सार्वजनिक पार्कों, होटलों, रेस्तरां और सार्वजनिक समारोहों पर अन्य प्रतिबंधों को बंद करने का आदेश दिया.”

अविनाश कुमार, कार्यकारी निदेशक, एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया ने एक बयान में कहा, ” महामारी के बारे में चिंता बढ़ रही है और सामग्री पर अनुचित प्रतिबंध और सूचना का प्रसार केवल आतंक को जोड़ने के लिए खड़ा है. पूर्ण शटडाउन या इंटरनेट की गति या पहुंच को प्रतिबंधित करने से लोगों को अधिकारियों पर अपने विश्वास को कम करके एक कठिन समय के माध्यम से अपने तरीके से नेविगेट करना मुश्किल हो जाता है. भारत सरकार ने सार्वजनिक स्वास्थ्य की रक्षा करने और 4 जी स्पीड इंटरनेट तक पहुंच बहाल करने के लिए अधिकारों का सम्मान करने वाला दृष्टिकोण अपनाने की जरूरत है.”


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।