कोरोना काल: दिल्ली में 24 घंटे में अब तक के सर्वाधिक नए कोरोना केस

मयंक सक्सेना मयंक सक्सेना
ख़बर Published On :


इस तरह एक और दिन सरकार के दावों को एक वायरस ने फिर मिट्टी के ढेर में मिला दिया है। अभी तक तीसरी बार और लगातार दूसरे दिन देश में कोरोना संक्रमण के नए मामले 7000 से ऊपर रहे। कोरोना का कर्व भारत में लगातार ऊपर की ओर जाता दिख रहा है। लेकिन ज़्यादा डराने वाली बात ये है कि दिल्ली ने 24 घंटे में अब तक के, एक दिन के सर्वाधिक नए कोरोना पॉज़िटिव मामले देख लिए हैं। ये तब हुआ है, जब दिल्ली में कोरोना के टेस्ट की संख्या 28 मई को सर्वाधिक नहीं थी।

दिल्ली ख़तरे की किस कगार पर है?

सबसे पहले बात देश की राजधानी दिल्ली की, जहां पिछले दिन में कोरोना संक्रमण के नए मामलों की संख्या ख़ौफ़ज़दा करने वाली है। दिल्ली में 28 मई के नए मामलों को देखें, तो 24 घंटे में नए मामलों की संख्या दो दिन में ही दोगुनी हो गई। जहां 26 मई के नए मामले 412 थे, 28 मई को ये 1,024 नए मामले हो गए हैं।

दिल्ली के कोरोना आंकड़े (28 मई, 2020 तक)

 

इसके साथ ही दिल्ली में ये अब तक सर्वाधिक नए मामलों की संख्या है। दिल्ली में कुल कोरोना संक्रमण की संख्या, 16,281 हो गई है और मृतकों की संख्या 316 हो गई है।

इन आंकड़ों को देखें तो केवल 28 मई के दिल्ली के नए कोरोना संक्रमण मामले ही, दिल्ली के अब तक के कुल मामलों के लगभग 6.3 फीसदी हैं। ये दिल्ली और केंद्र सरकार के अलावा दिल्ली के नागरिकों के लिए भी एक चिंता का विषय होना चाहिए।

कुल कोरोना मामलों में, 28 मई के मामलों का हिस्साॉ

कोरोना की किस स्टेज में देश?

देश में कोरोना संक्रमण के नए मामलों में ये अब तक तीसरा और लगातार दूसरा दिन है, जब 24 घंटे में 7,000 से अधिक नए मामले सामने आए हैं। इसको लेकर चिंतित इसलिए भी होना चाहिए कि ये संख्या, टेस्टिंग बढ़ने की वजह से नहीं बढ़ी है और महाराष्ट्र, तमिलनाडु और राजस्थान के अलावा  ज़्यादातर राज्य – पर्याप्त टेस्टिंग अभी भी नहीं कर रहे हैं।

28 मई के आंकड़ों के मुताबिक, महाराष्ट्र में 2,598, तमिलनाडु में 827 और गुजरात में 367 नए मामले सामने आए हैं। इसी के साथ देश में कुल कोरोना संक्रमण के मामले 1,65,387 हो गए हैं। जबकि महाराष्ट्र में 15,453, तमिलनाडु में 12,246 और गुजरात में केवल 4,185 ही नए टेस्ट किए गए हैं। गुजरात के टेस्टिंग रेट पर हम कल आपके लिए स्पेशल रिपोर्ट लेकर आएंगे।


 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।