9 बजे 9 मिनट: रोज़गार के मुद्दे पर काँग्रेस ने गरमाई सड़क, लखनऊ में कई गिरफ़्तार

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने रोजगार की मांग को लेकर चल रहे देशव्यापी आंदोलन का समर्थन किया है। युवाओं के 9 बजे 9 मिनट अभियान में पूरे प्रदेश में जगह जगह कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया। लखनऊ में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार भी किया।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय नेहरू भवन पर राष्ट्रीय सचिव धीरज गुर्जर, महासचिव मनोज यादव, प्रशासन प्रभारी दिनेश सिंह, शहर अध्यक्ष मुकेश सिंह चौहान समेत कई बड़े नेता इस अभियान का हिस्सा बने।

राष्ट्रीय सचिव धीरज गुर्जर ने जारी बयान में कहा कि हमारा देश पूरी दुनिया का सबसे नौजवान मुल्क है। नौजवान आने वाली भविष्य की रीढ़ हैं। लेकिन यह सरकार लगातार नौजवानों के साथ धोखा कर रही है। मोदी सरकार नौकरियों का वादा लेकर आई थी लेकिन युवा विरोधी यह सरकार नौजवानों के सपनों का कातिल बन बैठी।

उन्होंने जारी बयान में बताया कि पूरे प्रदेश में कांग्रेस के नेता और पदाधिकारी इस अभियान का हिस्सा बने हैं।

लखनऊ में युवा कांग्रेस नेता ज्ञानेश शुक्ला, शिवम् त्रिपाठी, शाहनवाज मंगल आदमी सुमित कई नेताओं को पुलिस ने गैर संवैधानिक तरीके से गिरफ्तार कर लिया। युवक कांग्रेस के नेता बेरोजगार युवाओं के पक्ष में मोमबत्ती, टार्च जलाकर प्रदर्शन करने जा रहे थे। इलाहाबाद में भी कांग्रेस ने बड़ा प्रदर्शन किया।

 

धीरज गुर्जर ने कहा कि यूपी का नौजवान ऐसी गिरफ्तारियां से डरने वाला नहीं है रोजगार के सवाल पर कांग्रेस पार्टी युवाओं के साथ कंधे से कंधा मिलाकर संघर्ष करने के लिए प्रतिबद्ध है।

युवाओं के आंदोलन को प्रियंका गांधी का समर्थन

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने रोजगार के सवाल पर चल रहे युवाओं के आंदोलन का समर्थन किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि “देश के युवाओं को रोजगार चाहिए। उनकी रूकी हुई भर्तियों की ज्वाइनिंग, परीक्षाओं की डेट, नई नौकरियों की नोटिफिकेशन, सही भर्ती प्रक्रिया और ज्यादा से ज्यादा नौकरियां चाहिए।

इसके बदले सरकार कोरे भाषण, लाठियां और उपेक्षा देती है। आखिर कब तक?

एक अन्य ट्वीट में प्रियंका गांधी ने कहा कि “इस देश का युवा अपनी आवाज सुनाना चाहता है। अपनी रूकी हुई भर्तियों, परीक्षाओं की तिथियों, अपॉइंटमेंट एवं नई नौकरियों को लेकर युवा अपनी आवाज उठा रहा है।

आज हम सबको युवाओं की रोजगार की लड़ाई में उनका साथ देने की जरूरत है।“


 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।