किसानों के शोक को शक्ति बनाने में जुटी काँग्रेस, देश भर में प्रदर्शन और गिरफ़्तारियाँ

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


मोदी सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस पार्टी ने आज देश भर में विरोध प्रदर्शन किया। कांग्रेस ने देशभर में ‘किसान मजदूर न्याय मार्च’ का निकाल पर अपना विरोध दर्ज कराया। कई राज्यों में विरोध प्रदर्शनों के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं की पुलिस से जमकर झड़प हुईं और कई जगहों पर हजारों कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारियां हुईं।

कांग्रेस ने कृषि कानूनों के खिलाफ देशभर में राजभवन तक मार्च करने का ऐलान किया था। पार्टी ने ऐलान किया था कि कांग्रेस कार्यालयों या महात्मा गांधी जी की मूर्ति से राजभवनों तक ये मार्च किये जाएंगे।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू आज एक बार फिर गिरफ्तार कर लिये गए। मोदी सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे अजय लल्लू को लखनऊ के परिवर्तन चौक पर गिरफ्तार किया गया। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच जमकर झड़प हुई। अजय कुमार लल्लू व अन्य कांग्रेस नेताओं को गिरफ्तार कर ईको गार्डन ले जाया गया।

कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए यूपी पुलिस ने सोमवार की सुबह से ही बड़ी संख्या में कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया और कई नेताओं को घरों पर ही नजरबंद कर दिया था।

गिरफ्तारी के बाद अजय कुमार लल्लू ने कहा कि “आज हमारे कार्यकर्ताओं, विधायकों, पूर्व विधायकों, पूर्व सांसदों और वरिष्ठ नेताओं को हाऊस अरेस्ट किया गया है, लाठियां मारी गई है। यह आंदोलन राहुल गांधी जी के नेतृत्व में शुरू हुआ है। हम सरकार को कह देना चाहते है- ‘अभी तो यह अंगड़ाई है, आगे भीषण लड़ाई है।’

कांग्रेस महासचिव व यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी ने यूपी कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन का वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया कि “ शहीद भगत सिंह ने कहा था कि शोषणकारी व्यवस्था पूंजीपतियों के फायदे के लिए किसानों मजदूरों का हक छीनती है।

भाजपा सरकार अपने खरबपति मित्रों के लिए किसानों की MSP का हक छीनकर उन्हें बंधुआ खेती में धकेल रही है। विरोधी बिलों के खिलाफ संघर्ष ही भगत सिंह को सच्ची श्रद्धांजलि है”।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि “कृषि क़ानून हमारे किसानों के लिए मौत की सज़ा हैं। उनकी आवाज़ संसद के अंदर और बाहर कुचल दी गयी है। ये इस बात का प्रमाण है कि भारत में लोकतंत्र मर चुका है”।

कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब में सत्तारुढ़ कांग्रेस ने शहीद भगत सिंह की जयंती पर उनके गांव में धरना दिया। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह शहीद भगत सिंह के गांव खटकर कलां में धरने पर बैठे। अमरिंदर सिंह के साथ कई मंत्री और विधायक भी धरने पर मौजूद रहे। मुख्यमंत्री अमरिंदर ने कहा है कि वो कृषि विधेयकों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का रुख करेंगे। केंद्र ने बिना राज्यों से पूछे ये बिल पास करवाए हैं।

मोदी सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ हरियाणा कांग्रेस ने कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष कुमार शैलजा के नेतृत्व में कांग्रेस भवन से राजभवन तक मार्च निकाला। पुलिस ने कांग्रेस नेताओं को बीच मेंरोकना चाहा। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प भी हुई।

कर्नाटक में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विरोध मार्च निकालकर मोदी सरकार के कृषि कानूनों का विरोध किया। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि मोदी सरकार ने गैर लोकतांत्रिक तरीके से ये कानून पास कराया है।


 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।