कोरोना किट घोटाला: कांग्रेस का प्रदर्शन, प्रियंका बोलीं- घोटालेबाज़ों को बचाना बंद करें योगी!

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


उत्तर प्रदेश में कोरोना किट घोटाले को लेकर राजनीति गरमा गई है। लखनऊ में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विधानसभा के सामने जोरदार प्रदर्शन किया है। कांग्रेस कार्यकर्ता मेडिकल घरीद में हुए घोटाले के विरोध में विधानसभा का घेराव करने पहुंचे थे। कई कार्यकर्ता पीपीई किट पहन कर प्रदर्शन में शामिल हुए। प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं की पुलिस से जमकर झड़प हुई।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि यूपी सरकार में कोरोना महामारी के दौरान घोटाले हो रहे हैं और सरकार घोटालेबाजों को बचाने में लगी है। यूपी पुलिस ने कार्यकर्ताओं पर बलप्रयोग करके उन्हें हिरासत में ले लिया। कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेकर ईको गार्डेन ले जाया गया।

 

उधर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के विरोध प्रदर्शऩ पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि “आपदा के समय आम जनता के लिए बनी योजनाओं में, भत्तों में कटौती करने वाली भाजपा सरकार घोटाले करने में सरपट भाग रही है। नतीजा है कि आज यूपी के लगभग हर जिले में कोरोना किट घोटाले का आरोप लग रहा है। यूपी कांग्रेस ने प्रदर्शन कर सरकार को चेतावनी दी कि घोटालेबाजों को बचाना बंद करे।

इसके पहले एक अन्य ट्वीट में प्रियंका गांधी ने कहा कि “यूपी के लगभग सभी जिलों में कोरोना किट घोटाला हुआ है। कोरोना आपदा के समय जब लाखों लोगों की रोजी-रोटी पर खतरा है उस समय प्रदेश सरकार के अफसरों ने करोड़ों का वारा-न्यारा कर दिया। सवाल ये है कि क्या प्रदेश सरकार की रुचि हर बार घोटालेबाजों को बचाने की ही होती है?

प्रियंका गांधी ने अपने ट्वीट के साथ एक पोस्टर भी शेयर किया है, जिसमें लिखा है कि कोरोना में बड़ा घोटाला: 2800 रु की कोविड किट को जेब भरने के लिए 15,75 रु में खरीदा, और साढ़े 12 हजार में खरीदा 2800 रुपये का पल्स ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर।

प्रियंका गांधी ने 11 सितंबर को भी ट्वीट कर इस घोटाले पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि “न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक उप्र में कोरोना किट खरीदी में घोटाला हुआ है। क्या पंचायत चुनावों के साल में जिले-जिले वसूली केंद्र बना दिए गए हैं? PPE किट घोटाला, 69K घोटाला, बिजली घोटाला..।

पहले घोटाला, फिर सख्ती का नाटक और फिर घोटाला दबाना…अजीब दास्ताँ है ये, कहाँ शुरू कहाँ खत्म..”

कोरोना किट घोटाले में आरोप लगा है कि सुल्तानपुर, गाजीपुर समेत कई जिलों में प्रशासन ने कीमत से बहुत अधिक दाम देकर कोरोना किट्स खरीदे हैं। योगी सरकार ने इस मामले की एसआईटी जांच का ऐलान किया है साथ ही इस मामले में दो अफसरों को सस्पेंड भी किया गया है।


 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।