Home प्रदेश उत्तर प्रदेश उम्भा नरसंहार की बरसी पर सोनभद्र जा रहे यूपी कांग्रेस अध्यक्ष लल्लू...

उम्भा नरसंहार की बरसी पर सोनभद्र जा रहे यूपी कांग्रेस अध्यक्ष लल्लू गिरफ्तार

कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि सोनभद्र के उम्भा नरसंहार में शहीद हुए दलितों-आदिवासियों को श्रद्धांजलि देना गुनाह है क्या?  अभिव्यक्ति की आजादी क्या इस तरह कुचली जायेगी? हमें अकारण क्यूँ रोका जा रहा है? उन्होंने कहा कि सत्ता के संरक्षण में हुए उम्भा नरसंहार को प्रदेश का दलित-आदिवासी समाज भुला नहीं है।  भाजपा यह जान ले कि सत्ता किसी की जागीर नहीं होती। कांग्रेस पार्टी लोकतांत्रिक मूल्यों और दमन के ख़िलाफ़ लड़ती रहेगी। उन्होंने कहा कि ये सरकार दमन की राजनीति पर विश्वास करती है। लोकतंत्र पर इस सरकार को थोड़ा भी भरोसा नहीं है। कांग्रेस पार्टी डरने वाली नहीं है, वो मजबूती के साथ दलित-आदिवासी भाइयों की आवाज को उठाती रहेगी।

SHARE

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के उम्भा गांव में जमीन पर कब्जे को लेकर हुए नरसंहार की पहली बरसी पर एक फिर राजनीति गरमा गई है। नरसंहार की पहली बरसी पर उम्भा गांव जा रहे यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को पुलिस ने भदोही में रोककर गिरफ्तार कर लिया है। उनको गोपीगंज के सीतामढ़ी गेस्ट हाउस में रखा गया है। इसके अलावा उम्भा गांव जा रहे कई कांग्रेस नेताओं को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

पिछले वर्ष 17 जुलाई को सोनभद्र के उम्भा गांव में भाजपा सरकार की लापरवाही के चलते हुए नरसंहार में 10 आदिवासी शहीद हो गए थे। अजय कुमार लल्लू इन्हीं आदिवासियों के बलिदान को याद करते हुए ‘बलिदान दिवस’ कार्यक्रम के अंतर्गत आदिवासियों की स्मृति में पीड़ितों से मिलने सोनभद्र जा रहे थे।

कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि सोनभद्र के उम्भा नरसंहार में शहीद हुए दलितों-आदिवासियों को श्रद्धांजलि देना गुनाह है क्या?  अभिव्यक्ति की आजादी क्या इस तरह कुचली जायेगी? हमें अकारण क्यूँ रोका जा रहा है? उन्होंने कहा कि सत्ता के संरक्षण में हुए उम्भा नरसंहार को प्रदेश का दलित-आदिवासी समाज भुला नहीं है।  भाजपा यह जान ले कि सत्ता किसी की जागीर नहीं होती। कांग्रेस पार्टी लोकतांत्रिक मूल्यों और दमन के ख़िलाफ़ लड़ती रहेगी। उन्होंने कहा कि ये सरकार दमन की राजनीति पर विश्वास करती है। लोकतंत्र पर इस सरकार को थोड़ा भी भरोसा नहीं है। कांग्रेस पार्टी डरने वाली नहीं है, वो मजबूती के साथ दलित-आदिवासी भाइयों की आवाज को उठाती रहेगी।

इसके साथ ही कांग्रेस नेता राजेश मिश्रा, अजय राय, प्रदेश महासचिव विश्वविजय सिंह, प्रदेश सचिव सरिता पटेल समेत सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ताओं को मिर्जापुर टोल प्लाजा पर गिरफ्तार किया गया है। ये सभी नेता भी उम्भा में शहीद हुए आदिवासियों को पुष्पांजलि अर्पित करने जा रहे थे।

वहीं उम्भा गांव से शहीदों की तस्वीरों के साथ गांव से निकल रहे शहीदों के परिवारों और सोनभद्र जिलाध्यक्ष रामराज गोंड को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस इन सभी को गिरफ्तार करके घोरावल थाने ले गई है।

बता दें कि पिछले साल 17 जुलाई को उम्भा गांव में 90 बीघा जमीन के विवाद में 10 आदिवासियों की हत्या कर दी गई थी। इस मामले में गांव के प्रधान समेत 67 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जमीन पर कब्जे को लेकर हुई इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी ग्राम प्रधान यज्ञदत्त सहित कुल 78 लोगों पर मुकदमा दर्ज था। जिसमें से 67 आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं।


 

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.