मोदी के हनुमान का, नीतीश के ऊपर हमला लगातार जारी- बिहार का थ्रिलर मैच

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


बिहार विधानसभा चुनाव के लिए कल दूसरे चरण का मतदान होना है. लेकिन अभी भी नेताओं का आरोप-प्रत्यारोप का खेल जारी है. एनडीए से अलग हुए लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने एक बार फिर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रति तीखा रुख अपनाया. आज चिराग पासवान ने सीएम नीतीश कुमार के नाम दो पन्नों का एक पत्र जारी करते हुए उन पर और अन्य जदयू नेताओं पर कई तरह के आरोप लगाए हैं.

चिराग पासवान ने अपने फेसबुक प्रोफाइल पर एक पत्र जारी करते हुए सीएम नीतीश कुमार पर हमला किया कि मात्र सात निश्चय की जाँच से बौखलाए आदरणीय नीतीश कुमार जी निजी हमले पर आ गए हैं. पापा के नहीं रहने पर उनकी चिंता देख कर ताज्जुब होता है. आगे उन्होंने कहा, “नीतीश, सात निश्चय की जाँच और मुंगेर कांड से ध्यान भटकाने का प्रयास कर रहे है. विकास के मुद्दे पर बात करने से घबराते है साहब. नीतीश कुमार जी चुनाव को विकास के मुद्दे से भटकाने के लिए पापा के आख़िरी दिनो पर सवाल उठा रहे है. मैं आग्रह करना चाहूँगा कि अगली सभा में जब आदरणीय नरेंद्र मोदी जी का आशीर्वाद लेने जाए तो पापा के आखिरी दिनो के बारे में जरुर पूछ लें. पापा की आखिरी साँस तक प्रधानमंत्री जी उनके साथ थे.”

चिराग पासवान पत्र में  वायरल अपनी उस वीडियो का भी जिक्र करते हैं, जिसमें वे ‘बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट’  के विजन डॉक्यूमेंट के लिए ऐड शूट कर रहे थे. यह विडियो सोशल मीडिया में  खूब वायरल हुआ था. चिराग ने इस वायरल विडियो के लिए जदयू नेताओं पर आरोप लगाते हुए लिखा है कि उनके नेता उस वीडियो का गलत अर्थ निकालकर जान बूझकर उनकी छवि को बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं. नेताओं के इस रवैये से उन्हें और उनके परिवार को काफी ठेस पहुंची है.

चिराग पासवान ने पत्र में आगे कहा कि उनकी (नीतीश कुमार की) पार्टी के नेताओं ने राजनीतिक स्तर को काफी गिरा दिया है और अब बात राजनीति से हटकर उनके निजी जीवन तक पहुंचने लगी है, जो कहीं से भी ठीक नहीं है.  अपने पत्र के जरिये उन्होंने सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए जनता को पिछले पांच सालों का हिसाब देने के लिए भी कहा हैं.

लोजपा नेता चिराग पासवान ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को खुली चुनौती देते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री अब कमजोर पड़ने लगें हैं इसलिए अब खुद भी निजी हमले करने लगे हैं. वे जब चाहें विकास के मुद्दे पर उनसे बहस कर सकते हैं लेकिन आज बिहार की जो बदहाली है उसे लेकर वो जनता के बीच जाकर हमेशा उनपर सवाल खड़े करते रहेंगे.

बिहार की लड़ाई दिलचस्प इसलिए भी होती जा रही है कि एक ओर भाजपा – नीतीश कुमार को ही बिहार का अगला मुख्यमंत्री बता रही है। लेकिन चिराग पासवान, लगातार प्रधानमंत्री का रनर बनकर – नीतीश कुमार पर बाउंसर फेंक रहे हैं। अब इसमें जेडीयू का नुकसान तो तय है लेकिन इससे एनडीए का फ़ायदा कैसे होगा और नीतीश कुमार को सीएम बनाने का दावा कर रही – भाजपा चुप क्यों है, ये कन्फ़्यूज़न इस पूरे मामले को थ्रिलर मैच बनाता दिख रहा है।

 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।